एंबुलेंस सेवा 108 की देरी से पहुंचने की वजह से मुख्यमंत्री के भाई का हुआ निधन

जिन जिन राज्यों में इमरजेंसी 108 एंबुलेंस सेवा देने हेतु सरकार ने कंपनी को ठेका दिया है आए दिन उन्हीं राज्यों से खबरें आती रहती हैं कि कभी एंबुलेंस में ही खराबी आ गई या फिर देरी से आने पर मरीज सही समय पर अस्पताल नहीं पहुंच पाता जिससे उसका उपचार नहीं होता है जिसकी वजह से उसकी मौत हो जाती है यह तो रही आम आदमी की बात अब बात कर लेते हैं एक ऐसे व्यक्ति की जिनकी मौत एंबुलेंस 108 के 45 मिनट लेट आने पर उसकी मौत हो गई और वह इंसान गुजरात की मुख्यमंत्री का भाई है गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रुपाणी के मौसेरे भाई की तबीयत उनके निवास राजकोट में खराब हुई जिसके बाद 108 सर्विस को इसकी सूचना दी गई किंतु समय पर एंबुलेंस नहीं पहुंचने पर उनकी मौत हो गई परिवार वालों की मां ने 108 एंबुलेंस 45 मिनट लेट आई जिसकी वजह से उन्हें तत्काल उपचार नहीं मिल सका

बता दें कि इसी महीने 4 अक्टूबर को सौराष्ट्र कला केंद्र इश्वरिया के पास रहने वाले मुख्यमंत्री के मौसेरे भाई अनिल संघवी को सांस की तकलीफ होने लगी. उनके बेटे गौरांग और परिवार के सदस्यों ने 108 एम्बुलेंस सेवा को फोन कर मदद मांगी थी. बार-बार कॉल करने पर भी एम्बुलेंस 45 मिनट की देरी से पहुंची. अस्पताल पहुंचने तक अनिल संघवी की मौत हो गई.

इस हादसे के बाद गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रुपाणी ने कलेक्टर को एम्बुलेंस के देरी से पहुंचने को लेकर जांच के आदेश दे दिए हैं. राजकोट कलेक्टर राम्य मोहन का कहना है कि दो बार एम्बुलेंस को परिवार वालों ने फोन करने का प्रयास किया लेकिन उनकी फोन पर बात नहीं हो पाई थी. इसके अलावा एम्बुलेंस गलत एड्रेस पर भी पहुंच गई थी. एम्बुलेंस को मोदी स्कूल इश्वरिया रोड की जगह पर न्यू मोदी स्कूल इश्वरिया गांव पहुंच गई थी. हालांकि अब इस पूरे मामले की जांच की जाएगी.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *