ChattisgarhRaipur

सेवानिवृत्त फॉरेस्ट सीएफ अधिकारी अली हुसैन के रंगीन कारनामों के पर्दाफाश होने के बाद बौखलाए अली हुसैन अब दे रहे लोगों को जान से मारने की धमकी

News Ads

रायपुर। एक ऐसे फॉरेस्ट सीएफ अधिकारी जिसके बारे मिली जानकारी के मुताबिक जिस जगह भी वह पदस्थ होते थे वहां अपना दिल बहलाने के लिए किसी ना किसी लड़की को पैसों के झांसे में लेकर अपनी हवस पूरा करते थे।लेकिन जब सेवानिवृत्त फॉरेस्ट सी एफ़ अधिकारी अली हुसैन के इन घिनौने करतूतों का पर्दाफाश हुआ तो उन्हें यह बर्दाश्त नहीं हुआ और तिलमिलाते हुए अब उन्होंने लोगों को जान से मारने की धमकी देनी भी शुरू कर दी।


दरअसल पार्थिवी कॉलोनी निवासी शमा अली ने अली हुसैन कपासी पर शारीरिक शोषण का आरोप लगाते हुए पुलिस के सामने शिकायत दर्ज करवाई थी कि किस तरह अली हुसैन ने उनसे निकाह करके उनकी बेटी अलीशा को पिता का दर्जा देने की बात कहकर अपने झांसे में लिया लेकिन अचानक 11 साल बाद समाज पद प्रतिष्ठा का बहाना बनाकर शमा अली को अपनी पत्नी मानने से इंकार कर रहा है। शिकायत में यह भी उल्लेख किया गया है कि शमा अली जो कि एक विधवा थी इसका परिचय फारेस्ट विभाग के ही एक रेंजर दीपक तिवारी से था और दीपक तिवारी ने ही अली हुसैन को समा अली से मिलवाया था। लेकिन इस बात को नकारते हुए अपनी पोल खुल जाने से तिलमिलाए अली हुसैन ने अपनी पुरानी रंजिश भुनाते हुए अपने ही कौम के शब्बीर अली को यह कहते हुए कि तुमने ही महिला को पुलिस में शिकायत करने और मीडिया के सामने जाने के लिए उकसाया है जान से मारने की धमकी दी है। इस मामले में पीड़िता महिला का कहना है कि अपनी साख बचाने और दीपक तिवारी को बचाने के लिए जबरदस्ती अली हुसैन सबीर अली को बलि का बकरा बना रहा है जबकि निकाह से पहले ना ही महिला इनसे मिली थी और ना ही उसे जानती थी।

लेकिन यहां पर सोचने वाली बात यह है कि अगर अली हुसैन कपासी वाकई एक साफ-सुथरे व्यक्तित्व के धनी होते तो कभी उनके द्वारा इस तरह किसी भी व्यक्ति को डराने धमकाने जान से मारने की धमकी नहीं दी जाती। वहीं दूसरी ओर पूर्व सेवानिवृत्त अधिकारी के पैसों के जाल में फंस कर पुलिस भी कार्यवाही करने से पीछे हट रही है और तो और बिना f.i.r. के जांच करने की बात कह रही है जो कि बिल्कुल कानून के विपरीत है। वही मिली जानकारी के अनुसार आई जी द्वारा आमानाका पुलिस को आदेशित करने के बावजूद भी आमानाका पुलिस इस मामले में अपना हाथ डालने से कतरा रही है, अगर सूत्रों की माने तो आमानाका पुलिस भी सेवानिवृत्त अली हुसैन के पैसे डकार कर इस मामले को भी चलता करने की फिराक में है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Around The World
Back to top button
Contact Us