AmbikapurChhattisgarh

सरगुजा पुलिस को अंधे हत्याकांड की गुत्थी सुलझाने में मिली बडी सफलता:मृतिका का प्रेमी युवक ही निकाला हत्यारा……

अम्बिकापुर से अभिषेक सिंह की खबर iDP24 NEWS….
अम्बिकापुर-सरगुजा पुलिस इन दिनों अंधे कत्ल की गुत्थी सुलझाने के कारणों से सुर्खियों में बनी हुई है।इसी क्रम में सरगुजा जिले के अन्तर्गत आने वाले पुलिस थाना दरिमा पुलिस को एक बड़ी सफलता मिली है।इस संदर्भ में जहां दरिमा पुलिस की टीम ने एक और अंधे कत्ल की गुत्थी को सुलझाया है।इस घटना में पुलिस ने मृतिका के प्रेमी को गिरफ्तार किया है।
सरगुजा जिले के दरिमा थाना क्षेत्र अंतर्गत ग्राम रकेली खाई से एक अज्ञात महिला के शव को अर्ध्यजली हालत में पुलिस की टीम ने बरमाद किया था,जिसका पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद खुलासा हुआ कि महिला की किसी अज्ञात आरोपी व्यक्ति ने गला दबाकर पहले हत्या की फिर सभी साक्ष्य छुपाने के लिए उसकी लाश को जला दिया,इसके बाद पुलिस की टीम अज्ञात आरोपी के खिलाफ हत्या का अपराध पंजीबद्ध कर मामले की जांच में जुट गई।
इधर अंधे कत्ल की गुत्थी को सुलझाने के लिए सरगुजा जिले के पुलिस अधीक्षक अमित तुकाराम कंबाले ने विशेष टीम का गठन किया।गठित पुलिस की टीम ने सभी दिशा में जांच शुरू की।
पुलिस की जांच और विवेचना के दौरान पुलिस के लिए सबसे बड़ी चुनौती मृतका की शिनाख्ती थी। इस चुनौती को सरगुजा पुलिस ने स्वीकार करते हुए जांच को जारी रखा और लगभग सैकड़ों गुम इंसान की खोज बिन और पतासाजी की गई, पुलिस ने आरोपी युवक को पकड़ने के लिए लगभग सैकड़ों सीसीटीवी फुटेज खंगाले और इस कार्य के लिए पुलिस को 700 घंटे से ऊपर का समय लग गया लेकिन पुलिस हार नही मानते हुये पूरी धैर्य के साथ अंधे कत्ल की गुत्थी को सुलझाने के पिछे लगी रही।इसी बीच घटनास्थल से बरामद किये गए मृतका के चप्पल,कपड़े और शिव की मूर्ति के जरिये पुलिस मृतिका के घर तक पहुंच गई।जब पुलिस ने बरामद समान को मृतका के परिजनों को दिखाया तो उन्होंने मृतिका की शिनाख्ती की,मृतिका दीक्षा सिंह बलरामपुर जिले के अन्तर्गत आने वाले क्षेत्र राजपुर की रहने वाली थी,इधर मृतिका की शिनाख्ती होने के बाद पुलिस ने अपनी जांच को आगे बढ़ाई तो पता चला कि राजपुर में वह एक मोटरसाइकिल के शोरूम में काम करती थी।वही शोरूम में कार्यरत अशोक कौशिक नामक युवक से उसका प्रेम संबंध था।
पुलिस को जब इस मामले की जानकारी मिली तो पुलिस ने अशोक कौशिक नामक युवक को हिरासत में लेकर पूछताछ किया,पूछताछ के दौरान आरोपी युवक ने प्रेमिका की हत्या कर साक्ष्य छिपाने के लिए लाश को जलाना स्वीकार किया।आरोपी युवक ने बताया कि उसकी प्रेमिका पहले से शादीशुदा थी और वह उससे शादी करना चाहती थी।लेकिन आरोपी नहीं चाहता था कि उसकी शादी मृतिका से हो,वही प्रेमिका को शादी से मना करने पर वह थाने में जाकर आरोपी के नाम से एफआईआर दर्ज कराने की धमकी देती थी,इस कारण आरोपी युवक ने थाना पुलिस के चक्कर में फंसने के डर से आरोपी ने अपनी प्रेमिका को गत 25अक्टूबर की दरम्यानी रात गला दबाकर मौत के घाट उतार दिया था। फिलहाल इस मामले में पुलिस द्वारा आरोपी युवक के विरुद्ध हत्या का अपराध पंजीबद्ध कर उसे न्यायिक रिमांड में पेश करने के बाद जेल भेज दिया गया है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button