AmbikapurChhattisgarh

सूरजपुर के प्रभारी वनपरिक्षेत्राधिकारी धडल्ले से कर रहे हैं, शासकीय वाहन एवं ईंधन का दुरुपयोग जानने के लिये पढें पूरी खबर……

अभिषेक सिंह की रिपोर्ट iDP24 NEWS…. अम्बिकापुर-सूरजपुर जिले के वन विभाग में अनिमियता बड़े स्तर पर जारी है।वन विभाग के कार्य हमेशा विवादों के घेरे में रहते है।वन विभाग भ्रष्टाचार के सभी सीमाओं को पार करते हुए डिप्टी रेंजरो को रेंजर का प्रभार सौप कर पूरे वन परीक्षेत्र को भ्रष्टाचार करने का खुला छूट दे दिया गया है।वहीं दूसरी ओर एसडीओ को डीएफओ की कुर्सी पर बैठा दिया गया है। इस कारण यह प्रतीत होता है कि सूरजपुर जिले के वन विभाग को प्रभारियों के भरोसे छोड़ दिया गया है क्या ? वही सूरजपुर वनपरिक्षेत्र के प्रभारी वनपरीक्षेत्राधिकारी अच्छे लाल शासकीय वाहन का अपने निजी कार्यों के लिए भी धड़ल्ले से उपयोग मे ला रहे हैं।और शासकीय वाहन से सूरजपुर से अंबिकापुर आने जाने का भरपूर उपयोग कर रहे हैं क्यों ? सूरजपुर वनपरिक्षेत्र के प्रभारी रेन्जर के कारनामें बडे ही निराले है। शासकीय वाहन का इस तरह इस्तेमाल करने से पहले अपने उच्च अधिकारियों से परमिशन ली गई है।यदि परमिशन नहीं ली गई है।तो प्रभारी रेंजर द्वारा प्रतिदिन लगभग हजारों रुपए का इंधन जलाकर वन विभाग को अच्छा खासा चूना लगा रहे हैं।जो की सरेआम नियम विरुद्ध है।वही इस ओर वन विभाग के उच्च अधिकारी भी इन सब बातों को दरकिनार कर रहे हैं।जो कि वन विभाग की घोर लापरवाही को उजागर करता है।वही प्रभारी रेंजर पर यह भी आरोप लगाया जा रहा है। की वह जिला मुख्यालय के अपने वनपरिक्षेत्र में न रहते हुए अपने निवास अंबिकापुर में ही ज्यादातर समय रहते हैं।एवं शासकीय इंधन और वाहन का भरपूर दुरुपयोग कर रहे हैं ।प्राप्त जानकारी के अनुसार अपने फील्ड में जाने का बहाना बनाकर इंधन की चोरी भी कर रहे हैं। प्रभारी रेंजर लगभग विगत दो वर्षों से सूरजपुर वन परिक्षेत्र के प्रभार में हैं। जबकि इस संबंध में सूचना के अधिकार के अंतर्गत इनसे जानकारी भी मांगी गई थी,जानकारी में उनके द्वारा गोलमोल जवाब देते हुए यह बताया गया की इस संबंध में जानकारी इकट्ठा नहीं की गई है।जब कि प्रभारी रेंजर अपने फील्ड का दौरा करते हैं।तो इसकी जानकारी उन्हें कैसे नहीं है।वह कहां कहां दौरा किए हैं।और कर रहे हैं और इन पर यह भी आरोप लगाया जा रहा है।कि अपने फील्ड का दौरा नहीं के बराबर करते हैं।और प्रतिमाह विभाग को अपने खर्च का ब्यौरा देते हुए बिल लगा कर शासन को हजारों रुपए का चूना लगा रहे हैं।और मोटी कमाई कर अपनी जेब भी गर्म कर रहे हैं।इस संबंध में एक युवक द्वारा प्रभारी रेन्जर के ऊपर भारी अनियमितता एवं घोर लापरवाही का आरोप लगाया गया है। इस बात को संज्ञान में लेते हुए प्रभारी डीएफओ द्वारा 4 सदस्यों की टीम का गठन कर इन पर जांच बैठा दी गई है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button