Raipur

कांग्रेस के कथनी करनी में अंतर! बेखौफ परोसे जा रहे अवैध नशीले पदार्थ, मौन है प्रशासन

रायपुर। कांग्रेस सरकार की कथनी और करनी में जमीन आसमान का फर्क है जनता को अपने हित में करने के लिए कांग्रेस सरकार बड़ी-बड़ी बातें करती जरूर है लेकिन जब अपनी कही गई बातों को पूरा करने की बारी आती है तो कांग्रेस सरकार हाथ पर हाथ धरे बैठे रहती है। यही कारण है कि असंवैधानिक कार्यों में लिप्त लोगों को अपनी गतिविधियों को बेरोकटोक,बेखौफ संचालित करने का परमिट हर बार मिल जाता है। लगातार राजधानी में अवैध नशीले पदार्थों की खरीदी बिक्री की बात सामने आती रही है,होटलों में देर रात तक युवक-युवतियों को बैठाकर अवैध नशीले पदार्थ परोसे जाते हैं इसकी जानकारी सबको है लेकिन उसके बावजूद भी शासन प्रशासन अपनी आंखों में काली पट्टियां बांधे बैठे हुए हैं।

https://youtu.be/jiWcJW39HMA

कोरोना काल मे लॉकडाउन के चलते व्यापारियों के व्यापार ठप हो गये लेकिन इस दौरान जिसने गाड़ी कमाई की है तो वह है केवल होटल कारोबारी! बड़े नेताओं और मंत्रियों से सम्बंध के चलते इन्हें ना तो सरकार का डर है ना पुलिस का, या फिर यह भी हो सकता है कि इनके संरक्षण में ही होटल कारोबारियों का व्यापार फल फूल रहा होग दोनों ही सूरत में होटल व्यापारियों के दोनों हाथों में लड्डू है।

एक ओर तो सरकार कोरोनावायरस के तहत लंबे चौड़े नियम कानून के फरमान जारी कर इन व्यापारो के खुलने और बंद होने का समय तय करती है बावजूद इसके इनके द्वारा जारी किए गए दिशा-निर्देशों पर पलीता लगाते हुए 10:00 बजे के बाद देर रात तक होटलों में लोग नशे में गोते लगाते हैं। कुछ ऐसा ही मामला निकल कर सामने आया है वीआईपी रोड स्थित एफआईटीबी क्लब एंड रेस्टोरेंट से जहां देर रात तक भारी संख्या में युवा हुक्का व शराब की बेख़ौफ़ पार्टियां करते जाम से जाम छलकाते नजर आ रहे है।

वैसे तो प्रदेश में हुक्का बैन है और गृह मंत्री द्वारा दिए गए निर्देश के मुताबिक जिस थाना क्षेत्र में प्रतिबंधित नशीले पदार्थ परोसे जाते हैं या इसकी खरीदी बिक्री की जाती है उस थाना क्षेत्र के टीआई को सबसे पहले निलंबित करने के आदेश है,बावजूद इसके FITB क्लब में बेशर्मी से ग्राहकों को शराब और हुक्का परोसा जा रहा है। ऐसा नहीं है कि सरकार के आदेशों की अवहेलना करने वाले इस क्लब की जानकारी आबकारी व पुलिस अधिकारियों को नहीं है बावजूद इसके पुलिस प्रशासन व आबकारी अधिकारियों द्वारा इस क्लब के खिलाफ कोई भी कार्यवाही नहीं करना बहुत सारे सवालों को जन्म देता है।

इस वीडियो को अगर आप ध्यान से देखेंगे तो इस क्लब द्वारा दिए गए बिल में समय भी लिखा हुआ है जो समय सरकार द्वारा होटल क्लब संचालन करने के लिए दिए गए समय से डेढ़ घंटे ऊपर ही है। इसके बावजूद भी इस तरह से सरकारी नियमों को ताक में रखकर होटल क्लब संचालित करने वालों को किसी भी चीज का खौफ नहीं। वीआईपी रोड में ऐसे बहुत सारे होटल्स क्लब्स हैं जो इस तरह नाइट पार्टी ऑर्गेनाइज कर प्रतिबंधित नशीले पदार्थ यूथ को परोसते है, लेकिन जिसने भी इस सच्चाई से सरकार को अवगत कराने की कोशिश की या तो उसके खिलाफ खुद पुलिस ने कारवाही की या फिर मामले को रफा-दफा कर होटल संचालकों को संरक्षण दिया गया। और इस तरह ही अवैधानिक कृत्यों में लिप्त लोगों को संरक्षण देते हुए अपने द्वारा कह गए बातों पर ही कांग्रेस की सरकार हर बार मुकर जाती है।

अब देखना यह होगा कि इस खबर के बाद क्या गृह मंत्री ताम्रध्वज साहू अपने द्वारा कहे गए बातों पर खरे उतरते हुए थानेदार को सस्पेंड करते हैं, इस क्लब संचालक के ऊपर कार्यवाही करवाते हैं या फिर रसूखदारों बड़े-बड़े नेता मंत्रियों के साथ संबंध होने के चलते इस मामले को फिर से चलता कर देते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Contact Us