Delhi-NCR

दिल्ली में दौड़ेगी ड्राइवरलेस मेट्रो, लेकिन कहीं ये लोगों के रोजगार का हनन तो नहीं! पढ़ें पूरी खबर

News Ads

दिल्ली। देश की पहली बिना ड्राइवर मेट्रो अब दिल्ली में दौड़ने के लिए तैयार है प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज ड्राइवरलेस मेट्रो ट्रेन को हरी झंडी दिखा दी है। ड्राइवरलेस यह मेट्रो 38 किलोमीटर लंबी मैजेंटा लाइन पर चलेगी। बता दे 390 किलोमीटर में फैला दिल्ली मेट्रो का नेटवर्क दिल्ली समेत आसपास के नोएडा, गुरुग्राम, फ़रीदाबाद, ग़ाज़ियाबाद जैसे शहरों को जोड़ता है।

दिल्ली मेट्रो देश की सबसे बड़ी मेट्रो सेवा है। पहली बार इसका परिचालन 24 दिसंबर, 2002 को शाहदरा और तीस हज़ारी स्टेशनों के बीच 8.4 किलोमीटर मार्ग पर हुआ था।

2002 के बाद से, दिल्ली मेट्रो के परिचालन में कई बदलाव आए हैं। जिसके बाद अब ड्राइवरलेस मेट्रो लाने के लिए मेट्रो रेलवेज़ जनरल रूल 2020 में बदलाव किया गया।पहले के नियमों के मुताबिक़ बिना ड्राइवर वाली ट्रेन चलाने की इजाज़त नहीं थी। जनकपुरी वेस्ट और बोटेनिकल गार्डन को जोड़ने वाली यह लाइन एयपोर्ट एक्सप्रेस लाइन के साथ नेशनल कॉमन मॉबिलिटी कार्ड (एनसीएमसी) सेवाओं के साथ संचालन करेगी।
मेजेंटा लाइन दिल्ली में जनकपुरी वेस्ट और नोएडा में बोटेनिकल गार्डन को जोड़ती है। इसी लाइन पर पहली ड्राइवरलेस ट्रेन तकनीक शुरू हो रही है। इस तकनीक को 2021 के मध्य तक पिंक लाइन (मजलिस पार्क-शिव विहार) पर भी शुरू करने की योजना है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उद्घाटन के बाद भाषण के दौरान कहा कि उन्हें 3 साल पहले मेजेंटा लाइन के उद्घाटन का सौभाग्य मिला था और आज फिर इसी रूट पर देश की पहली ऑटोमेटेड मेट्रो का उद्घाटन करने का अवसर मिला है।

उन्होंने कहा, “ये दिखाता है कि भारत कितनी तेज़ी से स्मार्ट सिस्टम की तरफ़ आगे बढ़ रहा है. आज नेशनल कॉमन मॉबिलिटी कार्ड से भी मेट्रो जुड़ रही है. पिछले साल अहमदाबाद से इसकी शुरुआत हुई थी. आज इसका विस्तार दिल्ली मेट्रो की एयर पोर्ट एक्सप्रेस लाइन पर हो रहा है।

More Article from World

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Around The World
Back to top button
Contact Us