Lifestyle

बदलते मौसम की वजह से हो जाता है सर्दी जुकाम तो अपनाए ये टिप्स

News Ads

बदलते मौसम की वजह से ज्यादातर लोगों को सर्दी जुकाम होने लगता है।और फिर हम अपने सेहत को लेकर काफी चिंतित रहने लगते हैं।साथ ही कोरोना की वजह से हमे मानसिक तनाव भी होने लगता है।क्योंकि कोरोना का डर हमारे मस्तिष्क में मंडराता रहेता है।ऐसे में हमे सर्दी जुकाम से बचने के लिए इन बातों का ध्यान रखना चाहिए-

गरारे लेना

संक्रमित गले या गले को नम करने के लिए गरारे एक बहुत ही शानदार तरीका है। सर्दी और फ्लू के लक्षणों को कम करने के लिए गर्म पानी में थोड़ा सा नमक डालकर दिन में चार बार गरारे करें। आप गरारे के पानी में शहद और सेब साइडर सिरका भी मिला सकते हैं। लेकिन ध्‍यान रहे एक साल की कम उम्र के बच्‍चों पर इस नुस्खे को न अजमायें।

  1. गर्म या ठंडा पैक

सर्दी या फ्लू दोनों से लडऩे के लिए आप गर्म या ठंडे उपचार का इस्‍तेमाल भी कर सकते हैं। बंद साइनस के चारों ओर ठंडा या गर्म पैक लगाने से तापमान में परिवर्तन आने लगता है जिससे आपको बहुत आरामदायक महसूस होता है। 

More Article from World
  1. गर्म सूप पिये

गर्म सूप का एक बॉउल नाक और गले में सूजन को दूर करने में मदद करता है। गर्म तरल पदार्थ बंद नाक को खोलने और निर्जलीकरण को रोकने के लिए जाने जाते हैं। माउंट सिनाई मेडिकल सेंटर में हुए एक अध्ययन के अनुसार, साइनस को साफ करने के लिए चिकन सूप विशेष रूप से लाभकारी होता है।  

  1. नहाने में गर्म पानी का करे इस्तेमाल

सोने से पहले अपने शरीर को आराम देने के लिए आप गर्म पानी से नहा सकते है। गर्म पानी से आपकी बंद नाक तुरंत खुलेगी और आपको आराम मिलेगा। गर्म पानी नासिका मार्ग को नम करने के साथ-साथ आपको रिलैक्‍स भी कराता है। शॉवर की स्‍टीम और नमी साइनस को खुलने और नासिका मार्ग को संकुचित होने में मदद करती है। जिससे कोल्‍ड के कारण बंद नाक की घुटन से राहत मिलती है

  1. गर्म चाय

अगर आप चाय पीते हैं तो यह तरीका भी ट्राई कर सकते हैं क्‍योंकि यह आपके शरीर के लिए बहुत अच्‍छा कर सकती है। यह फ्लू के लक्षणों को कम कर आपको चैन की नींद सोने में मदद करती है। हार्वर्ड के एक अध्‍ययन के अनुसार चाय पीना संक्रमण के खिलाफ शरीर की सुरक्षा को बढ़ाता है। चाय के रूप में आपको ग्रीन टी, पुदीने और अदरक की चाय पीनी चाहिये।

  1. सिर के नीचे अधिक तकियों का इस्‍तेमाल

सर्दी जुकाम की समस्‍या होने पर रात को सोने के लिए आप एक से अधिक तकिए का उपयोग करें। यह नासिका मार्ग से आसानी से पानी निकलने में मदद करता है। सोने की स्थिति में मामूली सा झुकाव लाने से खून का प्रवाह सिर की ओर होने से वायु मार्ग की सूजन कम होने में मदद मिलती है। जिससे आपको सोने में कोई परेशानी नहीं होती। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Around The World
Back to top button
Contact Us