ChattisgarhRaipur

कांग्रेस के राज में आए दिन लूट रही बेटियों की आबरू, महिला मोर्चा ने प्रदेश सरकार के खिलाफ की बगावत! जाने पुरा मामला

News Ads

रायपुर 15 साल तक बीजेपी शासन काल के बाद कांग्रेस सरकार की सत्ता में वापसी हुई जिसका मुख्य कारण था भूपेश सरकार द्वारा जारी शपथ पत्र जिसमें साफ शब्दों में पूर्ण शराबबंदी का उल्लेख किया गया था। इस पूर्ण शराबबंदी वाली कथन पर भरोसा करके प्रदेश की 80% महिलाओं ने भूपेश बघेल पर भरोसा जताया और उन्हें सत्ता में बैठाया।

क्योंकि जिनके घर में शराब के वजह से आए दिन झगड़े होते हो, किसी महिला का शोषण होता हो या फिर किसी मासूम बच्ची की नशे के वजह से आबरू लूटी हो उस तकलीफ को एक महिला से ज्यादा कोई और नहीं समझ सकता यही कारण था कि इन्होंने पूर्ण शराबबंदी वाले बात पर भरोसा दिखाते हुए भूपेश बघेल को जीत का ताज पहनाया। लेकिन आज सालों बीत जाने के बाद भी पूर्ण शराबबंदी तो दूर की बात है,शराबियों पर अंकुश लगाना तो दूर की बात है,शराब से मिलने वाले पैसों के लोभ में अब सरकार पार्ट 2 यानी कि नकली शराब और लोकल शराब बेचने वालों पर भी अंकुश लगाने में दूर-दूर तक नाकाम हो रही है। यही कारण है कि अब छत्तीसगढ़ के हर जिले में लोकल और घटिया क्वालिटी के शराब बेचकर सरकार मुनाफाखोरी को बढ़ावा दे रही है। शराब के वजह से छत्तीसगढ़ में शोषण बलात्कार जैसे तमाम आपराधिक आंकड़ों में बढ़त को देखते हुए भारतीय जनता पार्टी के तत्वाधान में आज प्रदेश महिला मोर्चा की महिलाओं के द्वारा राज्यपाल सुश्री अनुसुइया उइके को ज्ञापन सौंपा गया।

ज्ञापन के माध्यम से महिला मोर्चा की कार्यकर्ताओं ने सरकार से पूर्ण शराबबंदी की मांग की है साथ ही साथ प्रदेश में बढ़ते आपराधिक मामलों पर कड़ाई से अंकुश लगाने की भी बात कही। इस दौरान पूर्व मंत्री श्रीमती रमशिला साहू,सांसद सरोज पांडे,मीनल चौबे,शैलेन्द्री परगनिया समेत भाजपा के तमाम कार्यकर्ता मौजूद रहे। इस पूरे कार्यक्रम के दौरान भुपेश सरकार के कार्यकाल का जमकर विरोध हुआ,वही इस मामले को लेकर महिला मोर्चा का कहना है कि अगर प्रदेश सरकार अपने इस तानाशाही रवैये से बाज नही आई तो इन्हें चैन से रहने नही देंगे।

कार्यकर्ताओं में दिखी नाराज़गी

इसमें कहीं भी दो राय नहीं है कि जब से कांग्रेस ने सत्ता में वापसी की है तब से पक्ष और विपक्षी दलों के बीच आरोप-प्रत्यारोप का दौर जारी रहा है।चाहे बात हो धान खरीदी की या फिर पूर्ण शराबबंदी की अपने किए गए हर वादे पर प्रदेश सरकार कहीं ना कहीं विफल नजर आ रही है जिसका फायदा उठाकर विपक्षी भी प्रदेश सरकार पर निशाना साधने से पीछे नहीं हट रहे।

More Article from World

अब देखना यह होगा कि जिस पूर्ण शराब बंदी की बात कहकर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने यह सत्ता हासिल की है क्या अब अपने शपथ पत्र में अपने ही द्वारा कही गई पूर्ण शराबबंदी वाली बात में आने वाले सालों में खरे उतरते हैं या फिर इसी तरह प्रदेशवासियों को शराब परोस कर महिलाओं के जीवन को और गर्त में धकेलने का काम करते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Around The World
Back to top button
Contact Us