ChhattisgarhRaipurUncategorized

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की छत्तीसगढ़ मॉडल की चर्चा देश में मोदी भाजपा का गुजरात मॉडल फेल

रायपुर/। भाजपा प्रदेश अध्यक्ष विष्णुदेव साय के बयान पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुये प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता धनंजय सिंह ठाकुर ने कहा कि भाजपा प्रदेश अध्यक्ष विष्णुदेव साय सहित भाजपा के नेता छत्तीसगढ़ मॉडल की योजनाओं का लाभ लेने के बाद विपक्षी होने के धर्म का निर्वहन कर रहे हैं इसलिए राजनीतिक खानापूर्ति के लिए और आरएसएस एवं भाजपा के बड़े मठाधीश नेताओं को खुश करने के लिए झूठे मनगढ़ंत आरोप लगा रहे हैं। अब देश में मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की सरकार के तीन साल के कार्यकाल में छत्तीसगढ़ मॉडल की चर्चा हो रही है। मोदी भाजपा का गुजरात मॉडल पूरी तरह से फ्लाप हो गया है।

छत्तीसगढ़ में 20 लाख किसानों के 11 हजार करोड़ तक का कर्ज माफ किया है, 18 लाख किसानों के 217 करोड़ के लगभग सिंचाई कर को माफ किया है, धान की कीमत 2560 रू. एवं 2540 रू. प्रति कि्ंवटल दिया जा रहा है, मक्का, गन्ना, कोदो, कूटकी, रागी, दलहन, तिलहन, फलदार वृक्ष एवं सब्जी लगाने वाले किसानों को 10 हजार रू. प्रति एकड़ इनपुट सब्सिडी दिया जा रहा है।

तेन्दुपत्ता का मानक दर 4000 रू. प्रति बोरा एवं 52 वनोपज की समर्थन मूल्य की खरीदी की जा रही है। 1700 आदिवासी परिवार के 4100 एकड़ जमीन लौटाया गया है। महिला स्व सहायता समूह की 13 करोड़ रू. की कर्ज माफी की, 40 लाख परिवार को बिजली बिल हाफ की सुविधा दे रही है, पूर्व रमन शासनकाल में भाजपा नेताओं के संरक्षण में फल फूल रहे, ड्रग्स तस्कर, मानव तस्कर, गौ तस्कर, रेत माफिया, कोल माफिया, भू-माफिया, शराब माफिया को सलाखो के पीछे भेजा है।

प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता धनंजय सिंह ठाकुर ने कहा कि भाजपा प्रदेश अध्यक्ष विष्णुदेव साय ने रमन सरकार के 15 साल के शासनकाल के कुनितियों को नाकामियों को स्वीकार किया है। छत्तीसगढ़ वास्तविक में भाजपा सरकार के समय व्याप्त कमीशन खोरी भ्रष्टाचार के चलते 20 साल पीछे चला गया था। 15 साल में जो छत्तीसगढ़ के विकास होने चाहिए थे छत्तीसगढ़ वासियों केविकास होने चाहिए थे उससे छत्तीसगढ़ कोसों दूर रहा है।

राज्य निर्माण के बाद रमन भाजपा के 15 साल के शासनकाल के समय देश में छत्तीसगढ़ को भाजपा के भ्रष्टाचार, कमीशनखोरी के लिए जाना जाता था छत्तीसगढ़ को पिछड़ा प्रदेश जहाँ किसानों की आत्महत्या की घटनाएं, आदिवासियों के साथ क्रूर्रता होती थी। नक्सलियों का आतंक होता था नक्सलगढ़ के नाम से जाना जाता था। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल सरकार के 3 साल के सफलतम कार्यकाल जन कल्याणकारी योजनाएं के चलते छत्तीसगढ़ के सर्वहारा वर्ग को लाभ हुआ है और छत्तीसगढ़ की पहचान देश में अग्रणी राज्यों के रूप में हुई है। छत्तीसगढ़ तेजी से विकसित हो रहा है।

प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता धनंजय सिंह ठाकुर ने कहा कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल सरकार के जनकल्याणकारी योजनाओं राज्य के अंतिम व्यक्ति के विकास की सोच, पशुधन, पर्यावरण संरक्षण, जल संवर्धन, एवं राज्य के पारंपरिक कला संस्कृति परंपरा तीज त्यौहार को देश में अलग पहचान देने किए गए कार्यों के फलस्वरूप छत्तीसगढ़ आज देश में अलग पहचान बनाने में कामयाब हुई है।

आर्थिक मंदी बेरोजगारी के संकट से दूर हैं जहां करना जैसे विकराल संकट के बावजूद लोगों के हाथ में काम धाम है किसानों के जेब में पैसा है व्यापारियों के व्यापार चल रहे हैं।एक ओर मोदी सरकार के गलत नीतियों के चलते देश मे बेरोजगारी बढ़ी है महंगाई अनियंत्रित हुई है आम लोगों के रोजी रोजगार के ऊपर गंभीर संकट चल रहे हैं व्यापार-व्यवसाय तबाह हो रहा है उद्योग घराने बंद हो रहे हैं सरकारी कंपनियां बिक रही है देश एक विकराल आर्थिक मंदी के दौर से गुजर रहा है और उस आर्थिक मंदी की छाया देश के कई राज्यों को प्रभावित कर रही है छत्तीसगढ़ी एकमात्र राज्य है जो अपने छत्तीसगढ़ मॉडल के कार्य योजनओं के चलते आर्थिक मंदी के दौर से दूर है।

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!