ChhattisgarhPolitical

CM बघेल ने झीरम कांड की जांच को लेकर दिया बड़ा बयान…जिस दिन केंद्र में हमारी सरकार होगी उस दिन…उस दिन दूध का दूध, पानी का पानी हो जाएगा

CG News : छत्तीसगढ़ में झीरम घाटी हमले को लेकर जहाँ सियासत तेज़ है वही दूसरी ओर झीरम कांड की जांच को लेकर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने बड़ा बयान दिया जिसमे उन्होंने कहा है की जिस दिन हमारी सरकार केंद्र में होगी उस दिन दूध का दूध और पानी का पानी हो जायेगा

Related Articles

भूपेश बघेल ने मीडिया से चर्चा

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने मीडिया से चर्चा में कहा कि पहले रमन्ना का नाम था, बाद में 2014 में प्रारंभिक रिपोर्ट प्रस्तुत किया, लेकिन आश्चर्यजनक ढंग से रमन्ना का नाम नहीं था. मोदी सरकार रमन्ना और गणपति को क्यों बचा रही है? उन्होंने कहा कि डॉ. रमन सिंह के खासमखास धरमलाल कौशिक ने आयोग के गठन के बाद स्टे लिया. बीजेपी जांच में रुकावट क्यों डाल रही है? बीजेपी किसको छुपाना चाह रही है? जो सवाल मैंने उठाये हैं जवाब दें… मुख्यमंत्री बघेल ने कहा कि झीरम की दसवी बरसी है, श्रद्धांजलि देने जगदलपुर जा रहा हूं. झीरम को लेकर भाजपा बहुत हल्के ढंग से बात कर रही है, वो बहुत दुर्भाग्यपूर्ण है हास्यास्पद है. झीरम से पूरा देश दहल गया था. तत्कालीन यूपीए ने एनआई की जाँच की घोषणा की थी. जाँच शुरू हुई और जो एफआईआर हुआ, उसमे 2014 तक रमन्ना और गणपति का नाम था. संपति कुर्क करने का आदेश था, कुछ संपत्ति कुर्क भी हुई. उसके बाद एनआईए की प्रारंभिक रिपोर्ट में उन दोनों का नाम नहीं था

उस दिन दूध का दूध, पानी का पानी होगा

भाजपा कहती है जेब में पर्ची लेकर घूम रहे हैं उसका जवाब दे दें अब. जिस दिन केंद्र में हमारी सरकार बनेगी, उस दिन दूध का दूध, पानी का पानी होगा. उन्होंने कहा कि आयोग की जो रिपोर्ट आई है, उसे सरकार और मुख्य सचिव को न देकर राजभवन में दिया जाता है, ऐसा कभी हुआ है? जब खबरें चलने लगी हमने दो सदस्यीय टीम का गठन किया. धरमलाल कौशिक उस पर स्टे ले आते है. जेठमलानी भाजपा नेता हैं, केस लड़ते है. धरमलाल कौशिक रमन सिंह के खासमखास है, नान पर भी कोर्ट से स्टे ले आते हैं. ये किस मुँह से बात करते हैं. अब भाजपा को जवाब देना है. जैसे यूपीए की सरकार हटी, और एनडीए की सरकार आई. केवल दंडकारण्य मान कर जाँच ख़त्म कर दी गई.

Desk idp24

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!