ChhattisgarhKorba

गोबर बेचकर कमाए लगभग 7 करोड़ रुपए, गौठानों में अब तक तीन लाख 42 हजार क्विंटल से अधिक की हुई खरीदी

कोरबा: छत्तीसगढ़ शासन की महत्वाकांक्षी गोधन न्याय योजना ग्रामीणों की आर्थिक स्थिति मजबूत करने में सफल साबित हो रही है। जिले में गोधन न्याय योजना के प्रारंभ से अब तक योजना अंतर्गत 14 हजार 593 गोबर विक्रेताओं ने तीन लाख 42 हजार क्विंटल गोबर बेचकर छह करोड़ 85 लाख 17 हजार 489 रूपए कमाये हैं। जिले में गोधन न्याय योजना के सुचारू संचालन से ग्रामीणों को गांव में ही आर्थिक लाभ कमाने का जरिया प्राप्त हुआ है। ग्रामीण गांवों में ही गौठानों के माध्यम से गोबर खरीदी के साथ-साथ खरीदे गए गोबर से वर्मी कम्पोस्ट निर्माण कर आर्थिक उन्नति की ओर अग्रसर हो रहे हैं। गोबर बिक्री और वर्मी कम्पोस्ट उत्पादन से आर्थिक लाभ पाकर ग्रामीण खुश हैं।

कलेक्टर संजीव झा द्वारा जिले में पशुपालकों एवं किसानों की आर्थिक स्थिति में सुधार लाने तथा गोधन न्याय योजना के बेहतर क्रियान्वयन के लिए गौठानों का सतत् निरीक्षण एवं योजना की लगातार समीक्षा की जा रही है। जिसके सकारात्मक परिणाम फील्ड में देखने को मिल रहे हैं। गोधन न्याय योजना से जहां ग्रामीण गोबर बेचकर आर्थिक लाभ ले रहे हैं वही दूसरी ओर गौठानों में खरीदे गए गोबर से वर्मी खाद बनाकर ग्रामीण महिलाएं एवं पुरूष अपनी आजीविका संवर्धन कर रहे हैं। इसके साथ ही ग्रामीणों द्वारा गौठानों में आजीविका मूलक विभिन्न आर्थिक गतिविधियां की जा रही है, जिससे ग्रामीण अर्थव्यवस्था मजबूत हो रही है।

जिला पंचायत के सीईओ नूतन कंवर ने बताया कि जनपद पंचायत कोरबा के 52 गौठानों में दो हजार 427 गोबर विक्रेताओं ने 42 लाख 52 हजार 297 किलोग्राम गोबर बेचकर 85 लाख चार हजार 595 रूपए कमाये हैं। जनपद पंचायत करतला के 36 गौठानों में एक हजार 449 गोबर विक्रेताओं ने 28 लाख 47 हजार 798 किलोग्राम गोबर बेचकर 56 लाख 95 हजार 595 रूपए प्राप्त किए हैं। जनपद पंचायत कटघोरा के 24 गौठानों में एक हजार 137 गोबर विक्रेताओं ने 35 लाख 49 हजार 530 किलोग्राम गोबर बेचकर 70 लाख 99 हजार 60 रूपए अर्जित किए हैं।

जनपद पंचायत पाली के 63 गौठानों के पांच हजार 218 गोबर विक्रेताओं द्वारा एक करोड़ 86 हजार 454 किलोग्राम गोबर बेचकर दो करोड़ एक लाख 72 हजार 907 रूपए कमाये हैं। जनपद पंचायत पोड़ीउपरोड़ा के 89 गौठानों के तीन हजार 821 गोबर विक्रेताओं द्वारा 95 लाख 25 हजार 948 किलोग्राम गोबर बेचकर एक करोड़ 90 लाख 51 हजार 896 रूपए प्राप्त किए हैं। नगरीय निकाय के 15 गौठानों, गोबर खरीदी केंद्रों पर 541 गोबर विक्रेताओं द्वारा 39 लाख 96 हजार 714 किलोग्राम गोबर बेचकर 79 लाख 93 हजार 42 रूपए कमाये हैं। इस प्रकार जिले के 279 गौठानों में अब तक 14 हजार 593 गोबर विक्रेताओं, पशुपालकों ने तीन लाख 42 हजार 587 क्विंटल गोबर दो रूपए प्रति किलोग्राम की दर से बेचकर छह करोड़ 85 लाख 17 हजार 479 रूपए कमाये हैं।

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!