ChhattisgarhRaipur

रायपुर : छत्तीसगढ़ विधानसभा का स्थापना दिवस आज , विशेष सत्र ने बढ़ाया मान, राष्ट्रीय-अंतरराष्ट्रीय स्तर पर मिली पहचान

रायपुर। छत्तीसगढ़ विधानसभा( chhattisgarh) की पहली बैठक राजधानी स्थित राजकुमार कालेज प्रांगण में जशपुर हाल में निर्मित सभागार में 14 दिसंबर को हुई थी। तब से प्रतिवर्ष 14 दिसंबर को विधानसभा स्थापना दिवस( assembly) मनाया जाता है। जिस प्रकार राज्य स्थापना दिवस पर एक नवंबर पर शासकीय अवकाश घोषित किया जाता है, उसी प्रकार छत्तीसगढ़ विधानसभा की स्थापना दिवस पर भी वर्तमान विधानसभा अध्यक्ष डा. चरणदास महंत ने विधानसभा के लिए विशेष अवकाश घोषित किया है।

छत्तीसगढ़ विधानसभा को गौरव प्राप्त है कि भारत के राष्ट्रपति डा. एपीजे अब्दुल कलाम ने छत्तीसगढ़ विधानसभा( cg) में सदस्यों को 28 जनवरी 2004 को संबोधित किया। उसके बाद राष्ट्रपति प्रतिभा देवी पाटिल ने भी सभा में सदस्यों को संबोधित किया। छत्तीसगढ़ विधानसभा ने अपने नियमों में गर्भगृह पर प्रवेश करने पर स्वयमेव निलंबन का नियम बनाया और उसका परिणाम है कि सदस्य विरोध प्रकट करने के लिए सदन के गर्भगृह में सामान्य तौर पर नहीं आते।

पहले बजट सत्र की पहली बैठक 27 फरवरी 2001 को हुई

पहले बजट सत्र की पहली बैठक 27 फरवरी 2001 को हुई। वर्तमान आवश्यकताओं को देखते हुए नये सुसज्जित विधानसभा भवन का भूमि पूजन विधानसभा अध्यक्ष डॉ. चरणदास महंत, मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की गरिमामयी उपस्थिति में सोनिया गांधी द्वारा नवा रायपुर में किया गया है, जिसका निर्माण कार्य प्रारंभ हो गया है।

विशेष सत्र ने बढ़ाया मान

 छत्तीसगढ़ी बोली को राजभाषा का दर्जा देने संबंधी विधेयक प्रस्तुत होने के बाद ही छत्तीसगढ़ विधानसभा में छत्तीसगढ़ी में बोलने और उसके अनुवाद हेतु अनुवादकों की व्यवस्था की गई। राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की 150वीं जयंती पर छत्तीसगढ़ विधानसभा का विशेष सत्र भी अविस्मरणीय रहा।

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!