ChhattisgarhPolitical

होटल से गिरफ्तार हुए महाराज कालीचरण,बड़ी मुश्किलें

रायपुर। रायपुर में आयोजित धर्म संसद में राष्ट्रपिता महात्मा गांधी पर अमर्यादित टिप्पणी करने से सुर्खियों में आए महाराज कालीचरण की मुश्किलें बढ़ती ही जा रही हैं। इसी कड़ी में संत कालीचरण को पुलिस ने खजुराहो के होटल से गिरफ्तार कर लिया है और उन्हें रायपुर लाने की तैयारी हो रही है।

जिसका काम उसी को साजे,दूजा करे तो डंका बाजे

राजनीतिक बयानबाजी करने के लिए हमारे देश में राजनेताओं की कमी नहीं है लेकिन जब कोई धर्म गुरु ही धर्म का प्रचार प्रसार करना छोड़ राजनीतिक बयानबाजी करना शुरू कर दे तो उनके साथ ऐसा होना लाजमी है। अब यह तो महाराज कालीचरण ही जाने कि उन्हें धर्म संसद में लोगों को धार्मिक प्रवचन देकर भावविभोर करने के लिए लाया गया था या राजनीतिक बयानबाजी करने के लिए। जो भी हो ऐसा करके उन्होंने अपने पैर में कुल्हाड़ी जरूर मार ली।
बता दें कि संत कालीचरण ने राष्ट्रपिता महात्मा गांधी को लेकर विवादित बयान दिया था। उन्होंने देश के बंटवारे के लिए बापू को जिम्मेदार ठहराया। इस बयान से नाराज होकर कांग्रेस समेत दूसरे दलों के नेताओं ने भी कालीचरण की तीखी आलोचना की थी। अरुण के खिलाफ गैर जमानती धारा के तहत टिकरापारा थाने में एफ आई आर दर्ज करवाया गया था।

वहीं कांग्रेस के युवा नेता सुबोध हरिद्वार ने भी ट्वीट कर कालीचरण के पकड़े जाने की जानकारी दी है। लेकिन इन सबके बाद प्रश्न अभी भी यह उठता है कि कांग्रेस के कुछ नेता और बात बात में अपनी प्रतिक्रिया देने वाले विधायक जो उस वक्त वहां मौजूद थे उन्होंने अब तक इतने बड़े मुद्दे को लेकर क्यों कुछ नहीं कहा। उनका यह मौन व्रत कांग्रेस के बहुत सारे नेताओं को समझ ही नहीं आ रहा कि आखिर विधायक और संसदीय सचिव महोदय कि यह चुप्पी किस लिए है।

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!