Chhattisgarh

पुलिस ने डॉक्टर को किया गिरफ्तार, जानिए क्या है पूरा मामला

दुर्ग। भिलाई के जुनवानी स्थित श्री शंकराचार्य मेडिकल कॉलेज में पदस्थ डॉ. निखिल कौशिक को दुर्ग पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। डॉक्टर पर अपनी पत्नी को खुदकुशी के लिए मजबूर करने का माला दर्ज है। पत्नी की आत्महत्या के बाद आरोपी फरार हो गया था। पुलिस ने आरोपी श्री शंकराचार्य मेडिकल कॉलेज के डॉक्टर को ओड़िशा से गिरफ़्तार किया गया।

दरअसल, पूरा मामला इंजीनियर शिल्पा चंद्राकर की आत्महत्या से जुड़ा हुआ है। 14 जून को पद्मनाभपुर पुलिस चौकी अंतर्गत बोरसी स्थित अपने ससुराल में 21 वर्षीय इंजीनियर शिल्पा चन्द्राकर का शव फांसी के फंदे में लटका मिला था। शिल्पा सीएसपीडीसीएल रायपुर में अस्सिटेंट इंजीनियर के पद पर कार्यरत थी। शिल्पा चंद्राकर की आत्महत्या के बाद पुलिस ने एक सुसाइड नोट बरामद किया था। जिसमें दहेज प्रताड़ना की बात थी। इस मामले में मृतक शिल्पा चंद्राकर के पिता कुलेश्वर चंद्राकर ने भी अपनी बेटी के पति डॉ. निखिल कौशिक व उसके परिवार पर दहेज प्रताड़ना का आरोप लगाया था। उनकी बेटी का वेतन आते ही पूरा वेतन निकाल लिया जाता था जिससे वह काफी परेशान रहती थी।

इस पूरे मामले में परिजनों ने इंजीनियर शिल्पा की आत्महत्या के लिए श्री शंकराचार्य मेडिकल कॉलेज के डॉक्टर निखिल कौशिक को ही जिम्मेदार ठहराया। इधर जांच के दौरान जब पुलिस का शिकंजा कसने लगा तो डॉक्टर निखिल कौशिक ओडिशा भाग गया था। पुलिस आरोपी को गिरफ्तार करने की बजाए जांच की बात करकर टालने लगी थी। ऐसे में मृतका के पिता कुलेश्वर ने लगातार बड़े अधिकारियों से संपर्क कर बेटी मौत के जिम्मेदार डॉक्टर व उसकी फैमिली के खिलाफ कार्रवाई की मांग करते रहे। आखिरकार इस मामले में पुलिस ने आरोपी डॉक्टर का लोकेशन लिया और उसे गिरफ्तार कर दुर्ग लेकर पहुंची।

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!