ChhattisgarhRaipur

दीवार का नाम दिया “वॉल ऑफ करप्शन”महापौर के भ्रष्टाचार को लेकर भाजपा का प्रदर्शन

रायपुर। भारतीय जनता पार्टी रायपुर शहर जिला द्वारा जिला अध्यक्ष जयंती भाई पटेल के नेतृत्व में नगर निगम महापौर के भ्रष्टाचार को लेकर किया तेलीबांधा से लेकर वीआईपी चौक तक प्रदर्शन किया गया। महापौर एजाज ढेबर व नगर निगम द्वारा मनमाने ढंग से किए जा रहे निर्माण की दीवार को भाजपा ने ” वॉल ऑफ करप्शन ” का नाम दिया।

रायपुर नगर निगम अंतर्गत तेलीबांधा क्षेत्र में नगर निगम द्वारा स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट फंड के माध्यम से सड़क डिवाइडर में सौंदर्यीकरण का कार्य करवाया जा रहा है। जिसका आधे से अधिक कार्य पूर्ण हो चुका है। परंतु इसमे स्पष्ठ भ्रष्टाचार तब उजागर हुआ जब कुछ दिन पूर्व निगम द्वारा इसका टेंडर जारी किया गया। भारतीय जनता पार्टी के नेताओ ने आरोप लगाते हुए कहा कि यह ना केवल स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट के पैसों का दुरुपयोग है अपितु स्पष्ठ भ्रष्टाचार है। ऐसा कैसे संभव है कि किसी कार्य का टैंडर जारी हुए बिना ही काम चालू हो गया और आधे से अधिक निर्मित भी हो गया । और इस पर निगम के जोन कंडीशनर गैर जिम्मेदाराना बयान जारी करते हैं कि नहीं मालूम कौन यह कार्य करवा रहा है रोकने पर भी नहीं मान रहा है।

भाजपा कार्यकर्ता बड़ी संख्या में तेलीबांधा चौक पहुँचे जहाँ से माना विमानतल पहुँच मुख्य चौराहे तक पैदल मार्च करते हुए महापौर और प्रदेश सरकार के खिलाफ जमकर नारे बाजी की । सभी ने हाथों में वॉल ऑफ करप्शन की तख्तियां ले रखी थी एवं महापौर एजाज ढेबर के खिलाफ,नारे लगाते हुए भाजपा कार्यकर्ता तेलीबांधा चौक से VIP रोड चौक तक पैदल गए । जहाँ निगम द्वारा लगाए गए स्वागत संदेश बोर्ड और मुख्यमंत्री के चित्र के सामने भी जमकर नारेबाजी की।

भाजपा रायपुर शहर जिला अध्यक्ष जयंती भाई पटेल ने कहा कि स्मार्ट सिटी प्रॉजेक्ट के माध्यम से किये जा रहे सौंदर्यीकरण में महापौर एजाज ढेबर मनमाने ढंग से द स्पष्ट भ्रष्टाचार किया जा रहा है । निगम अधिकारी और महापौर को स्मार्ट सिटी फंड की मलाई खाने की इतनी जल्दबाजी है कि काम का आबंटन पहले कर दिया जाता है और टैंडर बाद में जारी होता है यह पूरा खेल कमीशन का है कांग्रेस के कलेक्शन का है यह ऐसी गड़बड़ी है जिसमें सुधार या किसी बहाने की गुंजाइश भी नही।

प्रदेश प्रवक्ता संजय श्रीवास्तव ने कहा कि संभवतः इस तरह का प्रत्यक्ष भ्रष्टाचार पहली बार नही हुआ जब से एजाज ढेबर महापौर बने हैं उनका इस तरह के कृत्य से गहरा नाता रहा है प्रदेश और नगर निगम दोनों में भ्रष्टाचार का स्तर बेलगाम हो चुका है देवेंद्र नगर में भी पहले इस तरह का कार्य किया जा चुका है नगर निगम द्वारा 7 करोड़ का वॉटर फाउंटेन लगाया जाता है जो चंद दिनों में बंद हो जाता है और फिर पुनः चालू ही नही होता चौक चौराहों पर चकाचौंध लाइट लगाना ही इनका स्मार्ट सिटी मानक है पर अब महापौर जो स्वयं जाँच के दायरे में हैं इस टैंडर को निरस्त करना ही होगा अन्यथा हम इस स्पष्ठ भ्रष्टाचार को लेकर सीधी लड़ाई लड़ने तैयार है ।
भाजपा नेताओं ने कहा कि इस सरकार और उनके उच्च अधिकारियों पर अब भरोसा नहीं रह गया है भाजपा इस मामले को लेकर कानून का दरवाजा खटखटाएगी।

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!