BilaspurChhattisgarh

Bilaspur में सब्जी की खेती करने वाले राजस्थान के किसान की अपहरण के बाद हत्या..2 आरोपी गिरफ्तार

बिलासपुर। राजस्थान के किसान को अगवा कर उसकी हत्या कर लाश को छत्तीसगढ़ के बिलासपुर में फेंकने का मामला सामने आया है। पुलिस ने मामले में दो आरोपियों को गिरफ्तार किया है। आरोपियों ने सब्जी की कीमत को लेकर हुए विवाद के बाद उसका अपहरण कर लिया। फिर हत्या कर लाश को फेंक दिया। घटना तखतपुर थाना क्षेत्र की है।

राजस्थान के भगवान विश्नोई जुनापरा चौकी क्षेत्र के बासाझाल गांव में 60 एकड़ जमीन लेकर फार्म हाउस बनाया है, जहां वह सब्जी की खेती करता था। बीते तीन सितंबर को उसके भाई श्रवण कुमार विश्नोई ने फार्म हाउस से उसके गायब होने की शिकायत दर्ज कराई, जिस पर पुलिस गुमशुदगी का केस दर्ज कर उसकी तलाश कर रही थी।

भगवान के भाई श्रवण विश्नोई ने उसके अपहरण की आशंका जताते हुए पुलिस को बताया कि दो सितंबर को वह फार्म हाउस गया था। इसके बाद वापस घर नहीं पहुंचा। इस बीच कृषि फार्म से करीब एक किलोमीटर की दूरी पर उसकी बाइक और चप्पल मिला था। कृषि फार्म में काम करने वाले मजदूरों से पूछताछ करने पर पता चला कि मध्यप्रदेश के जबलपुर से सब्जी लेने के लिए स्वराज माजदा चालक सगम अंसारी आया था, जिसके बाद से भगवान विश्नोई गायब है।

पुलिस ने भगवान की तलाश करने के लिए फार्म हाउस में काम करने वाले मजदूरों से पूछताछ की, तब पता चला कि भगवान का जबलपुर के ड्राइवर सगम अंसारी से विवाद हुआ था। बताया गया कि जबलपुर के व्यापारी ने सब्जी का भाव तय कर कम कीमत मांग रहा था। कीमत कम नहीं करने पर ड्राइवर सब्जी छोड़कर जाने की बात कहने लगा। तब भगवान ने उसे रोक लिया और उसके साथ विवाद शुरू कर दिया। इस दौरान उसने सगम की पिटाई भी कर दी थी। उसका कहना था कि उसके कहने पर ही वह सब्जी तोड़वा दिया है। उसने पहले से ही भाव तय कर दिया था। अब वह बिना सब्जी के उसे खाली हाथ जाने नहीं देगा। आखिरकार, सगम अंसारी ने अपने भाई से बात की और सब्जी लेकर रवाना हो गया।

पुलिस इस केस की जांच कर रही थी। तभी कवर्धा जिले के कुंडा थाना क्षेत्र में सड़क किनारे एक व्यक्ति की लाश मिली, जिसकी पहचान भगवान विश्नोई के रूप में की गई। अपहरण और हत्या का मामला सामने आने के बाद कोटा एसडीओपी सिद्धार्थ बघेल सहित पुलिस अफसर सक्रिय हुए। इस दौरान जांच के लिए पुलिस की टीम गठित कर जबलपुर रवाना किया गया। पुलिसकर्मियों ने सनम अंसारी के भाई गुलशेर अहमद से पूछताछ की। उसने बताया कि भगवान विश्नोई ने उसके भाई सनम उर्फ सहवान शरीफ अंसारी के साथ मारपीट किया था। जिसका बदला लेने के के लिए वह अपने भाई सनम अंसारी, ट्रांसपोर्टर व सब्जी कारोबारी अन्नू गौर एवं गुलशन के साथ मिलकर कार से बासाझाल गए। वहां से भगवान को पकड़कर कार में लेकर जबलपुर जाने के लिए निकले। फिर रास्ते में उन्होंने भगवान विश्नोई पर हमला कर उसकी हत्या कर और लाश को सड़क किनारे फेंक कर जबलपुर चले गए।

अपहरण और हत्या के इस केस में पुलिस ने आरोपी गुलशेर अहमद को गिरफ्तार लिया है। वहीं, वारदात में इस्तेमाल कार को भी बरामद कर लिया गया है। जबलपुर में एक अन्य आरोपी सनम अंसारी को भी गिरफ्तार कर लिया गया है। उसे बुधवार को बिलासपुर लाया जाएगा। दो अन्य आरोपी अन्नू गौर एवं गुलशन की तलाश की जा रही है।

Desk idp24

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!