National

बड़ा प्रशासनिक फेरबदल : 6 आईएएस अफसरों को किया गया इधर से उधर…पढ़िए

लखनऊ। यूपी में छह आईएएस अधिकारियों को इधर उधर किया गया है. फिरोजाबाद के जिलाधिकारी रवि रंजन हटाए गए हैं. गोंडा के डीएम उज्‍जवल कुमार को फिरोजाबाद के नए जिलाधिकारी नियुक्त किए गए हैं. शनिवार को उत्तर प्रदेश शासन ने एक बार फिर बड़ा फेरबदल करते हुए कई आइएएस अधिकारियों को इधर से उधर किया है. इसमें कई जिलों के डीएम भी बदले गए हैं

नेहा शर्मा निदेशक नगरीय निकाय को गोंडा का जिलाधिकारी बनाया गया है. राजेश त्यागी विशेष सचिव उच्च शिक्षा को अमरोहा का डीएम नियुक्त किया गया है. कानपुर जिलाधिकारी विशाख जी को कानपुर विकास प्राधिकरण का अतिरिक्त प्रभार दिया गया है. कानपुर विकास प्राधिकरण के वीसी अरविंद कुमार सिंह को बलरामपुर का डीएम बनाया गया है.

कानपुर विकास प्राधिकरण के बीच अरविंद कुमार सिंह को हटा दिया गया है उन्हें बड़ी जिम्मेदारी के साथ बलरामपुर का डीएम बनाया गया है. 2015 बैच के आईएएस अधिकारी पिछले दिनों के साथी चर्चा में रहे हैं. उन पर कई आरोप लगते रहे हैं. कानपुर डेवलपमेंट अथॉरिटी का अतिरिक्त चार्ज डीएम विशाख जी को दे दिया गया है.

उत्तर प्रदेश में IAS अधिकारियों के तबादले का सिलसिला जारी है। इसी क्रम में योगी सरकार ने प्रदेश में एक और बड़े प्रशासनिक फेरबदल को अंजाम दिया है। जिसमें कई IAS अधिकारियों को इधर से उधर किया गया है। शासन की ओर से जारी आदेश में फिरोजाबाद के डीएम रवि रंजन को हटाकर उनकी जगह गोंडा डीएम उज्ज्वल कुमार को लाया गया है। वहीं, महिला आईएएस अधिकारी नेहा शर्मा को गोंडा जिले का नया जिलाधिकारी बनाया गया है।

2014 बैच के आईएएस अधिकारी रवि रंजन को जून 2022 में फिरोजाबाद का जिलाधिकारी नियुक्त किया था। इससे पहले वे प्रयागराज नगर निगम के नगर आयुक्त के पद पर कार्यरत थे। उन्हें सूर्यपाल गंगवार की जगह फिरोजाबाद का कलेक्टर बनाया गया था। गंगवार फिलहाल राजधानी लखनऊ के जिलाधिकारी हैं।

वहीं, 2012 बैच के आईएएस अधिकारी उज्जवल कुमार फरवरी 2022 से गोंडा डीएम के पद पर कार्यरत हैं। उन्हें राज्य में आचार संहिता लागू होने के बाद चुनाव आयोग ने जिले की कमान सौंपी थी। मुख्य विपक्षी दल समाजवादी पार्टी की शिकायत पर तत्कालीन जिलाधिकारी मार्कण्डय शाही को आयोग ने पद से हटा दिया था। उज्जवल कुमार तब विशेष सचिव आईटी के पद पर कार्यरत थे।

2010 बैच की महिला आईएएस अधिकारी नेहा शर्मा की एक बार फिर जिलाधिकारी के पद पर वापसी हुई है। बीते साल जून में कानपुर में जब भयानक सांप्रदायिक हिंसा भड़का था, तब नेहा शर्मा ही वहां की डीएम थीं। इसके बाद उन्हें डीएम के पद से हटाकर नगरीय निकाय विभाग का निदेशक बना दिया गया। अब एकबार फिर राज्य सरकार ने उन्हें जिलाधिकारी का पद दिया है। शर्मा गोंडा की अब नई डीएम होंगी।

तबादले के लिस्ट में शामिल अन्य अधिकारयों में 2014 बैच के अधिकारी गिरिजेश त्यागी भी शामिल हैं। त्यागी फिलहाल उच्च शिक्षा विभाग में विशेष सचिव के पद पर कार्यरत हैं, जहां से उनका तबादला अमरोहा के कलेक्टर के पद पर कर दिया गया है।

जून 2022 में नेहा शर्मा को हटाकर कानपुर की डीएम बनाई गईं विशाख जी के पास अब कानपुर विकास प्राधिकरण का अतिरिक्त प्रभार होगा। विवादों में चल रहे कानपुर विकास प्राधिकरण के VC अरविंद कुमार सिंह को योगी सरकार ने बड़ी जिम्मेदारी दी है। 2015 बैच के अधिकारी सिंह को अमरोहा का कलेक्टर बनाया गया है। उनके खिलाफ शासन स्तर पर एक जांच भी चल रही है।

Desk idp24

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!