ChhattisgarhRaipur

BREAKING : लापता बच्‍ची की हत्‍या का खुलासा, पड़ोस में रहने वाला नाबालिग निकला कातिल, दुष्कर्म के बाद की हत्या…

रायपुर। राजधानी रायपुर के विधानसभा क्षेत्र के सड्डू बीएसयूपी कालोनी स्थित वृंदावन गार्डन से एक हफ्ते पहले लापता हुई आठ साल की मासूम बच्ची की सेक्टर-8 के मैदान में झाड़ियों के बीच मंगलवार की रात लाश मिली थी। इस हत्या मामले का पुलिस ने बड़ा खुलासा किया है। बच्ची का हत्यारा पड़ोस में रहने वाला 14 साल का नाबालिग निकला। जानकारी के मुताबिक नाबालिग आरोपी और मृत बच्ची एक ही कालोनी में रहते थे। आरोपी कॉलोनी सेक्टर-8 के पीछे बाउंड्रीवाल में बच्ची को ले गया था। यहां मासूम से दुष्कर्म किया और उसके बाद बच्ची की हत्या कर दिया।

बच्ची की हत्या का खुलासा करते हुए रायपुर एसएसपी प्रशांत अग्रवाल ने बताया कि 7 दिसम्बर की दोपहर को ही 8 साल की बच्ची लापता हो गई थी। बच्ची के परिजनों को ये पता नहीं था कि बच्ची दोपहर से ही लापता हो गई थी। परिजनों ने रिपोर्ट में बताया था कि बच्ची शाम से लापता हुई थी। पुलिस ने शिकायत के बाद सड्डू हाउसिंग बोर्ड के सेक्टर-8 में लगे सीसीटीवी फुटेज को खंगालना शुरू किया। इस दौरान घटना वाले दिन 7 दिसम्बर को ही बालिका पड़ोसी नाबालिक आरोपी के साथ जाते हुए दिखाई दी। इस जानकारी के बाद पुलिस ने नाबालिक को पकड़ा और मनोवैज्ञानिक तरीके से पूछताछ की गई। पूछताछ में आरोपी ने हत्या के बाद दुष्कर्म की बात कबूल की। बच्ची जिस दिन लापता हुई थी उसी दिन उसकी हत्या कर दी गई थी।

इसी दौरान टीम के सदस्यों को दिनांक 1312.2022 को थाना विधानसभा क्षेत्रांतर्गत सेक्टर 08 स्थित विवेकानंद गार्डन के सामने सूनसान स्थान में अपहृत नाबालिग बालिका का शव बोरी एवं कागज के गत्ता से ढ़का मिला एवं बालिका का शव खराब हो गया था। जिस पर शव का पी.एम. कराया गया, डॉ. द्वारा शार्ट पी.एम. रिपोर्ट में बालिका की मृत्यु गला दबाकर करने के साथ ही बालिका के साथ दुष्कर्म करना भी लेख किया गया।

एसएसपी प्रशांत अग्रवालद्वारा घटना को अत्यन्त गंभीरता से लेते हुए तत्काल अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक ग्रामीण/शहर के नेतृत्व में 07 नगर पुलिस अधीक्षक/उप पुलिस अधीक्षक, 03 निरीक्षक 05 सउनि., 08 प्र.आर. एवं 22 आरक्षकों की एक विशेष टीम का गठन कर अज्ञात आरोपी की जल्द से जल्द पतासाजी कर गिरफ्तार करने निर्देशित किया गया।

बच्ची के अपहरण के शिकायत के बाद पुलिस लगातार जांच कर रही थी। पतासाजी के दौरान टीम के सदस्यों द्वारा घटना के संबंध में प्रार्थी सहित उसके घर के अन्य सदस्यों से विस्तृत पूछताछ करने के साथ ही आसपास के लोगों से भी पूछताछ किया गया। टीम के सदस्यों द्वारा घटना स्थल के आसपास लगे सी.सी.टी.व्ही. कैमरों के फुटेजों को खंगालने के साथ ही मुखबीर लगाकर भी अपहृत की पतासाजी करने के प्रयास के किये जा रहे थे। इसी दौरान टीम के सदस्यों को दिनांक 1312.2022 को थाना विधानसभा क्षेत्रांतर्गत सेक्टर 08 स्थित विवेकानंद गार्डन के सामने सूनसान स्थान में अपहृत नाबालिग बालिका का शव बोरी एवं कागज के गत्ता से ढ़का मिला एवं बालिका का शव खराब हो गया था। जिस पर शव का पी.एम. कराया गया, डॉ. द्वारा शार्ट पी.एम. रिपोर्ट में बालिका की मृत्यु गला दबाकर करने के साथ ही बालिका के साथ दुष्कर्म करना भी लेख किया गया।

वहीं एसएसपी प्रशांत अग्रवाल द्वारा घटना को अत्यन्त गंभीरता से लेते हुए तत्काल अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक ग्रामीण/शहर के नेतृत्व में 07 नगर पुलिस अधीक्षक/उप पुलिस अधीक्षक, 03 निरीक्षक 05 सउनि., 08 प्र.आर. एवं 22 आरक्षकों की एक विशेष टीम का गठन कर अज्ञात आरोपी की जल्द से जल्द पतासाजी कर गिरफ्तार करने निर्देशित किया गया।

जिस पर वरिष्ठ अधिकारियों के निर्देशन में विशेष टीम के सदस्यों द्वारा हत्या के मामले के सब बिन्दुओं को ध्यान में रखते हुए पुनः नये सिरे से प्रकरण में अज्ञात आरोपी की पतासाजी हेतु कार्य करना प्रारंभ किया गया। टीम के सदस्यों द्वारा बालिक के पिता, मां सहित घर के अन्य सदस्यों के साथ विस्तृत पूछताछ करने के साथ ही सबका पृथक – पृथक बयान लेने के साथ ही आसपास के लोगों से भी पूछताछ किया गया। टीम के सदस्यों द्वारा घटना स्थल के आसपास लगे सी.सी.टी.व्ही. कैमरों के फुटेजों को पुनः बारिकी से खंगाला जा रहा था इसके साथ प्रकरण मंे अज्ञात आरोपी की पतासाजी हेतु मुखबीर भी तैनात किये गये। साइबर विंग द्वारा तकनीकी विश्लेषणों के माध्यम से भी अज्ञात आरोपी को चिन्हांकित करने के प्रयास किये जा रहे थे।

इसी दौरान मृत बच्ची के शव को डम्प किये गये स्थल के आसपास उपलब्ध समस्त सी.सी.टी.व्ही. कैमरों के फुटेजों का विस्तृत अवलोकन करने पर बालिका को एक लड़के साथ जाते देखा गया कि टीम के सदस्यों द्वारा त्वरित लड़के की पहचान करने के प्रयास किये गये। इस दौरान शव पाये गये स्थल के समीप स्थित पार्क के आसपास स्थित समस्त ऐसे संदेहियों से कड़ाई से पूछताछ किया गया। जिस पर तकनीकी साक्ष्य तथा स्थानीय आसूचना संकलन से घटना में संलिप्त आरोपी के संबंध में महत्वपूर्ण जानकारी प्राप्त हुई। जिस पर टीम के सदस्यों द्वारा कालोनी में मृत बालिका के ब्लॉक में ही निवासरत विधि के साथ संघर्षरत एक बालक को पकड़कर घटना के संबंध में प्राप्त साक्ष्यों के आधार पर कड़ाई से पूछताछ करने पर उसके द्वारा उक्त घटना को कारित करना स्वीकार किया गया।

पूछताछ में अपचारी बालक ने बताया कि वह आज से लगभग 05 माह पूर्व कालोनी में सपरिवार किराये से निवासरत था। उसी कालोनी में मृत बच्ची भी अपने पिता के साथ निवासरत थी जिस वजह से अपचारी बालक का मृत बच्ची पर बुरी निगाह रखता था एवं ऐसे मौके की तलाश में था । दिनांक घटना को जब बच्ची नीचे खेल रही थी उसी समय अपचारी बालक उसे पास स्थित हाऊसिंग बोर्ड कालोनी के पार्क के आसपास फल व सब्जी तोड़ने के बहाने 02 पॉलीथीन लेकर चला गया। कुछ समय तक पार्क के आसपास घुमकर रखिया आदि सब्जी तोड़े इसी दौरान बालक द्वारा उसे अपने साथ शारीरिक संबंध बनाने पूछने पर बालिका द्वारा मना किया गया। जिससे अपचारी बालक द्वारा उस समय अन्य कोई व्यक्ति नहीं होने से सूनसान होने का फायदा उठाकर बालिका को बाउंड्रीवाल के पीछे झाडियों के बीच ले जाकर बालिका के साथ दुष्कर्म किया तथा गला दबाकर उसकी हत्या कर शव को कागज के गत्ता, पालीथीन एवं बोरी में ढ़ककर/छिपाकर फरार हो गया।

नाबालिग आरोपी ने पूछताछ में बताया कि वह अपनी भाभी व चाचा के मोबाइल में पोर्नोग्राफी विडियो देखा करता था। गौरतलब है कि अपचारी बालक का पिता भी पूर्व में अपनी नाबालिग सगी पुत्री के साथ दुष्कर्म के मामले में 03 वर्ष तक जेल निरूद्ध रह चुका है, जो 01 माह पूर्व ही जेल से बाहर आया है। नाबालिग आरोपी को गिरफ्तार कर उसके विरूद्ध प्रकरण में धारा 302, 201, 376 भादवि. 4, 6 पास्को एक्ट जोड़ी जाकर कार्यवाही की गई।

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!