BilaspurChhattisgarh

CG CRIME : मेडिकल कालेज में प्रवेश दिलाने का झांसा देकर BSNL अधिकारी से 15 लाख की धोखाधड़ी

बिलासपुर। मेडिकल कालेज में एडमिशन दिलाने का झांसा देकर बीएसएनएल अधिकारी से 15 लाख रुपए की धोखाधड़ी करने का मामला सामने आया है। पैसे देने के दो साल बाद तक भी जब एडमिशन नहीं हुआ और न ही पैसो लौटाए गए तो अधिकारी ने मामले की शिकायत पुलिस से की है। पुलिस केस दर्ज कर आरोपियों की तलाश में जुट गई है। मामला सरकंडा थाना क्षेत्र का है।

राजकिशोर नगर स्थित BSNL कॉलोनी निवासी निहार रंजन मलिक (53) BSNL में अफसर हैं। उन्होंने पुलिस को दी अपनी शिकायत में बताया कि उनकी बेटी पल्लवी NEET एग्जाम की तैयारी कर रही थी। साल 2021 में NEET का रिजल्ट आने के बाद उनके पल्लवी के मोबाइल पर गर्वनमेंट मेडिकल कॉलेज में दाखिले के लिए मैसेज आया, जिसके बाद अनजान नंबर से फोन भी किया गया। इस दौरान उन्हें बताया गया कि गर्वनमेंट मेडिकल कॉलेज में सेंट्रल पुल के कोटे पर उनकी बेटी का एडमिशन हो जाएगा, जिसके लिए उन्हें 35 लाख रुपए देना पड़ेगा। इसके लिए निहार रंजन तैयार हो गए।

फोन करने वाले राजेश दास ने उन्हें बताया कि रायपुर में ब्लूबेरी सर्विस के नाम पर उनका ऑफिस है, जिसका डायरेक्टर कल्पतरू दास है, जो उनका भाई है। ऑफिस का पता मैग्नेटो मॉल के चौथी मंजिल में होने की जानकारी दी, जहां उनका भाई कल्पतरू दास बैठता है। उन्होंने कल्पतरू का नंबर भी दिया। फिर कल्पतरू दास और उसके साथ संजय दास, मयूरी चटर्जी, आदर्श मिश्रा नाम के लोग बिलासपुर आए और बताया कि वे सभी मेडिकल कॉलेजों में दाखिला दिलाने का काम करते हैं। इस दौरान उन्होंने बतौर एडवांस 50 हजार रुपए लिए।

BSNL अफसर ने पुलिस को बताया कि इसके बाद उनसे प्रोफेसिंग फीस सहित अलग-अलग बहाने से किश्तों में पैसों की डिमांड की गई। इस दौरान उनसे करीब 15 लाख 50 हजार रुपए वसूल लिए गए। इसके बाद भी अधिकारी की बेटी का एडमिशन मेडिकल कालेज में नहीं हुआ। तब उन्होंने अपने पैसे वापस मांगे। इस पर आरोपियों ने टालमटोल करना शुरू कर दिया। जब अधिकारी को धोखाधड़ी की जानकारी हुई तो उन्होंने पूरे मामले की शिकायत सरकंडा थाने में की है। इस पर पुलिस ने केस दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

Desk idp24

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!