National

तेजी से पैर पसार रहा कोरोना, स्वास्थ्य मंत्रालय ने चार ‘T’ पर विशेष ध्यान देने की दी सलाह

नई दिल्ली। भारत में कोरोना संक्रमण के मामले एक बार फिर बढ़ने लगे हैं। पिछले 24 घंटे में 1590 संक्रमण के मामले सामने आए है, 6 संक्रमितों की मौत भी हुई है। 146 दिनों में यह कोरोना के एक दिन का सबसे अधिक केस है।

Related Articles

स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय के मुताबिक पिछले पांच हफ्तों में देश में संक्रमण के मामलों में नौ गुना तक बढ़ोतरी आई है। संक्रमण के बढ़ते जोखिम को देखते हुए मंत्रालय ने सभी राज्यों को सलाह दी कि वे कोविड से मुकाबले के लिए ‘चार टी’ (टेस्ट-ट्रैक-ट्रीट-टीकाकरण) और कोविड उपयुक्त व्यवहार के पालन पर विशेष ध्यान दें।

राज्यों में बढ़े संक्रमण के आंकड़े

स्वास्थ्य विभाग द्वारा साझा किए गए आंकड़ों के अनुसार, दिल्ली में शुक्रवार को 6.66 प्रतिशत की सकारात्मक दर के साथ 152 नए कोरोना वायरस के मामले दर्ज किए गए। इससे पहले गुरुवार को 117 लोगों के संक्रमित पाया गया था। इससे पहले अक्टूबर में दिल्ली में एक दिन में 100 से अधिक मामले दर्ज हुए थे। इसी तरह शुक्रवार को महाराष्ट्र में 343 नए कोविड संक्रमण और तीन मौतों की खबर है। महाराष्ट्र में अब एक्टिव मामलों की संख्या बढ़कर 1,763 हो गई है।

नौ-दस गुना तक बढ़े केस

देश में अब कोरोना के सक्रिय मामलों की संख्या बढ़कर 8600 से अधिक हो गई है, इनमें से ज्यादातर के लिए XBB.1.16 वैरिएंट को कारण माना जा रहा है। गौरतलब है कि पिछले चार दिनों से लगातार संक्रमण के मामले 1100 से अधिक रिपोर्ट हो रहे हैं।

अचानक संक्रमण बढ़ने का कारण

स्वास्थ्य विशेषज्ञों का कहना है कि जिस तरह से ओमिक्रॉन के म्यूटेटेड वैरिएंट्स की प्रकृति है, उसके कारण कम समय में ही अधिकतर लोग संक्रमण की चपेट में आ रहे हैं। अमर उजाला से बातचीत में कोविड केयर एक्सपर्ट डॉ नरोत्तम सिंह बताते हैं, चूंकि नए वैरिएंट्स के कारण लोगों में एसिम्टोमैटिक रोग अधिक देखे जा रहे हैं, ऐसे लोगों में चूंकि संक्रमण का पता नहीं चलता है और इनसे दूसरे के संक्रमित होने का जोखिम भी अधिक रहता है, अचानक से देश में मामलों के बढ़ने का एक कारण यह भी हो सकता है।

Desk idp24

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!