BollywoodChhattisgarhNationalPoliticalUncategorized

Divine Live: रायपुर में कोरोना को खुला आमंत्रण,डिवाइन के शो में कोरोना का भव्य स्वागत

रायपुर। बीते 2 साल देश समेत प्रदेश भी शायद ही भूल पाया होगा। चारों तरफ कोरोना से त्राहि-त्राहि मची थी। कोरोना से मरने वालों की तादाद इतनी की अंतिम संस्कार करने के लिए जगह भी कम पड़ गए। इन सब के बावजूद प्रदेश में लापरवाही और इस लापरवाही को बढ़ावा देने वालों की कमी नहीं है। कोरोना संकट से कुछ समय राहत के बाद फिर से प्रदेश में कोरोना की वापसी हुई है। कोरोना संक्रमितों की संख्या बढ़ती जा रही है। वर्तमान में रायपुर में कोरोना के 32 एक्टिव मरीज मिले हैं इसके बावजूद भी प्रदेश में शासन प्रशासन आंख मूंद कर बैठे हैं।

रायपुर के ललित महल में कल डिवाइन का लाइव कॉन्सर्ट होने वाला है। जिसमें हजारों की तादाद में लोगों का हुजूम उमड़ेगा जिस पर रोक लगा पाना सम्भव नही। ऐसे में भीड़ भाड़ को देखते हुए कोरोना के आंकड़े बढ़ने की सम्भावना है। इसके बावजूद भी इस कॉन्सर्ट पर रोक लगाना छोड़ शासन-प्रशासन कार्यक्रम को और बढ़ावा दे रहे हैं।

divine

हालांकि इस कॉन्सर्ट कि समय पहले ही तय हो चुकी थी लेकिन, जिस तरह से प्रदेश में कोरोना के आंकड़े नजर आ रहे हैं उसके मद्देनजर इस पर रोक लगाना ही समझदारी है। लेकिन आखिर क्यों शासन-प्रशासन इतने गंभीर मुद्दे पर इस तरह की लापरवाही बरत रहे हैं यह बात समझ से परे है?


एक ओर जहां रोज कोरोना से बचने के लिए लोगों को समझाइश देते शासन प्रशासन नहीं थक रहे। तो वहीं दूसरी ओर लोगों को और संक्रमण के मुंह में धकेलने का काम भी यही शासन प्रशासन के लोग कर रहे हैं। संक्रमण के बढ़ते आंकड़ों के बीच इस तरह से लाइव कॉन्सर्ट कराने का परमिशन आखिर कलेक्टर ने क्यों दिया यह अपने आप में एक बड़ा सवाल है? जिस समय लोगों की सुरक्षा इन अधिकारियों के लिए सबसे ज्यादा महत्वपूर्ण है ऐसे समय में लोगों को इस तरह संक्रमण के हाथों जानबूझकर सौंपना साफ तौर पर लोगों के जीवन पर मंडराने वाले खतरे से अनदेखी कर मुंह मोड़ना नजर आ रहा है।


कोरोना संक्रमण के फैलने का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंह देव स्वयं चौथी बार कोरोनावायरस से संक्रमित हुए हैं। इतनी एहतियात बरतने के बावजूद जब स्वयं स्वास्थ्यमंत्री इस संक्रमण से अछूते नहीं रह पाए तो आम लोगों की क्या बिसात। बावजूद इसके लाइव कॉन्सर्ट का परमिशन देकर शासन-प्रशासन पूरी तरह से एक गैर जिम्मेदाराना व्यक्ति की भूमिका निभा रहे हैं। इस कॉन्सर्ट के बाद अगर प्रदेश में और खासकर राजधानी में जहां कोरोना के एक्टिव मरीजों की संख्या ज्यादा है संक्रमण का विस्फोट होता है तो इसकी जिम्मेदारी आखिर किसकी होगी?

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!