National

पूर्व शिक्षा मंत्री पार्थ चटर्जी के घर देर रात भी जारी रही ईडी की तलाशी, करीबी के घर से मिले 20 करोड़

पश्चिम बंगाल में स्कूल सेवा आयोग (एसएससी) परिषदीय शिक्षकों की भर्ती में हुई बड़े पैमाने पर धांधली के मामले में प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) की छापेमारी शुक्रवार और शनिवार दरमियानी रात भी ममता कैबिनेट मंत्री पार्थ चटर्जी और उनके करीबियों के घर जारी है। दूसरी ओर टॉलीगंज के हरिदेव में स्थित एक पॉश आवासीय परिसर में अर्पिता मुखर्जी नाम की महिला के घर देर शाम ईडी के अधिकारियों ने छापेमारी की है, जहां से 20 करोड़ रुपये बरामद हुए हैं। वह पार्थ चटर्जी की खास हैं और कई मौके पर पार्थ के साथ मुख्यमंत्री के मंच पर नजर आई हैं। इसे लेकर भारतीय जनता पार्टी हमलावर हो गई है। प्रदेश भाजपा ने शनिवार को पूरे राज्य में शिक्षक भर्ती घोटाले के खिलाफ प्रदर्शन की घोषणा की है।

20 आईफोन भी बरामद
रात 8:10 बजे ईडी ने इस बरामदगी के संबंध में ट्विटर पर जानकारी दी है और तस्वीरें भी साझा की है। सूत्रों ने बताया है कि 20 करोड़ नकदी के अलावा उनके घर से 20 आईफोन और विदेशी मुद्रा भी बरामद की गई है। ईडी ने अपने ट्वीट में कहा है कि अर्पिता के घर से जो रुपये बरामद हुए है उनका शिक्षक भर्ती घोटाला से संबंध होने का अंदेशा है।

ईडी सूत्रों ने बताया कि जब अधिकारी देर शाम अर्पिता के घर गए तो वह घर पर ही मौजूद थीं। उनके फ्लैट में तीन कमरे हैं, जिनमें से एक का दरवाजा बंद था। उसे खुलवाया गया उसमें भी एक ड्रावर था जिसे अर्पिता ने बंद कर रखा था। ईडी अधिकारियों ने जब दबाव बनाया था तब अर्पिता ने उसे खोला, जिसमें से दो बैग बरामद हुए। उसमें 2000 और 500 के ढेर सारे नोट, विदेशी मुद्रा, मोबाइल फोन, सोना आदि रखा गया था। बाद में बैंक कर्मियों को बुलाया गया और सुरक्षा कड़ी कर दी गई। नोट को गिनने वाली चार मशीनों की मदद से नोट गणना पूरी हुई जिसमें 20 करोड़ की बरामदगी की पुष्टि हो चुकी है। अभी बरामद राशि की मात्रा और अधिक बढ़ने की संभावना है।

20 घंटे से छापेमारी जारी
शुक्रवार सुबह 7:30 बजे के करीब सात से आठ की संख्या में ईडी के अधिकारी पार्थ चटर्जी के घर गए थे। घर वालों से पूछा कि पार्थ कहां हैं? पता चला कि वह ऊपर वाले कमरे में हैं, जहां तुरंत ईडी के अधिकारी जा पहुंचे। कुछ अधिकारियों ने उनसे पूछताछ शुरू कर दी और बाकी तलाशी अभियान चलाने लगे। शुक्रवार और शनिवार की दरमियानी रात दो बजे खबर लिखे जाने तक पार्थ चटर्जी के घर तलाशी अभियान चल रहा है। ममता कैबिनेट में वर्तमान में उद्योग मंत्री पार्थ के घर से कई महत्वपूर्ण दस्तावेज मिले हैं। अधिवक्ता की मौजूदगी में पार्थ ने इन दस्तावेजों की अपने घर पर मौजूदगी वाले स्वीकृति पत्र पर हस्ताक्षर किया है।

पूछताछ में बिगड़ गई थी पार्थ की तबीयत
लगातार पूछताछ के बाद उनकी तबीयत शाम के समय बिगड़ गई थी। नेताजी नगर थाने की पुलिस के साथ एसएसकेएम अस्पताल से तीन डॉक्टरों की टीम उनके घर पहुंची थी। इनमें हड्डी रोग विशेषज्ञ, मेडिसिन चिकित्सक और एक हृदय रोग विशेषज्ञ थे। बाद में शाम 4:00 बजे के करीब तीनों डॉक्टर से वापस चले गए। रात 10:00 बजे के करीब पार्थ चटर्जी के घर अतिरिक्त संख्या में सीआरपीएफ के जवानों को बुलाया गया है। ईडी के एक और अधिकारी भी पहुंचे हैं। बाहर नेताजी नगर थाने की पुलिस मौजूद है।

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!