National

कोरोना को लेकर नई गाइडलाइन जारी, भीड़ में पहनें मास्क, बूस्टर डोज लगवाना अनिवार्य

नई दिल्ली। चीन में कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए भारत भी सतर्क हो गया है। केंद्र सरकार कोरोना के मामलों पर नजर रख रही है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मंडाविया ने भी आज शीर्ष अधिकारियों और विशेषज्ञों के साथ महामारी की स्थिति पर समीक्षा बैठक की। वहीं कोरोना का प्रसार रोकने के लिए सरकार ने नई एडवाइजरी जारी की है।

कोरोना पर केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की बैठक के बाद नीति आयोग के सदस्य डॉ वीके पॉल ने कहा है कि घबराने की कोई बात नहीं है, लेकिन सावधानी जरुर बरतनी चाहिए। उन्होंने लोगों से आग्रह किया कि भीड़भाड़ वाले इलाकों में मास्क जरूर पहनें। साथ ही जिन लोगों ने अभी तक बूस्टर डोज नहीं लगवाई है, वह जल्द से जल्द इसे लगवाएं, ताकि कोरोना को फैलने से रोका जा सके।

डॉ वीके पॉल ने कहा कि अभी तक केवल 27 से 28 फीसदी लोगों ने बूस्टर डोज ली है। हमें इसे बढ़ाना होगा। हम अन्य लोगों, विशेषकर वरिष्ठ नागरिकों से अपील करते हैं कि वह यह डोज लगाएं। बूस्टर डोज अनिवार्य है और सभी के लिए निर्देशित है। वैसे देश में फिलहाल कोरोना की स्थिति पूरी तरह नियंत्रण में है। कोरोना की मौजूदा पॉजिटिविटी दर 1 फीसदी से भी कम है। स्वास्थ्य मंत्रालय ने इससे जुड़ा एक वीडियो भी शेयर किया है।

सरकार ने बताया कि सितंबर के जीनोम सर्विलांस में तीन बार भारत में BF.7 वैरिएंट पाया गया, यानी हम इसे चिन्हित कर चुके हैं, जिससे चीन में लोग संक्रमित हो रहे हैं। वहीं देश में कोरोना के लगभग सभी वैरिएंट आ चुके हैं, इसलिए लोगों में इसे लेकर इम्यूनिटी विकसित हो चुकी है। सरकार ने कहा कि फिर भी अब निगरानी बढ़ाई जाएगी और राज्यों को मास्क लाने के निर्देश लाकर अनुपालन कराना होगा। हालांकि क्रिसमस, नए साल और त्योहारों पर कोई रोक नहीं लगेगी। सरकार अब हर हफ्ते इस मामले पर मीटिंग करेगी और स्थिति की समीक्षा कर, उसी हिसाब से एडवाइजरी जारी करेगी।

चिकित्सा विशेषज्ञों का अनुमान है कि अगले तीन महीनों में चीन की 60 प्रतिशत से अधिक आबादी के वायरस से संक्रमित होने की संभावना है, इसके बाद भारत हरकत में आया और केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मंडाविया ने भारत की कोविड तैयारियों की समीक्षा के लिए एक बैठक की।

बैठक समाप्त होने के बाद, मनसुख मंडाविया ने कहा, “कोविड अभी खत्म नहीं हुआ है। मैंने सभी संबंधितों को सतर्क रहने और निगरानी मजबूत करने का निर्देश दिया है।”

बैठक समाप्त होने के बाद, नीति आयोग के सदस्य डॉ वीके पॉल ने लोगों को वायरस के प्रसार को रोकने के लिए भीड़-भाड़ वाली जगहों पर मास्क लगाने की सलाह दी, इस आशंका के बीच कि चीन में संक्रमण की लहर की वजह कोरोना के नए म्यूटेशन की वजह से हुई है।

डॉ. वीके पॉल ने कहा, “अगर आप भीड़-भाड़ वाली जगह, घर के अंदर या बाहर हैं तो मास्क का इस्तेमाल करें. कॉमरेडिटी वाले या अधिक उम्र के लोगों के लिए यह सब अधिक महत्वपूर्ण है।”

यह बैठक केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के सचिव राजेश भूषण द्वारा राज्य सरकारों से जीनोम अनुक्रमण प्रयोगशालाओं को प्राथमिकता के आधार पर सकारात्मक मामलों के नमूने प्रस्तुत करने के लिए कहने के एक दिन बाद हुई है।

स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा जारी एक बयान में सचिव ने कहा कि भारतीय SARS-CoV-2 जीनोमिक्स कंसोर्टियम (INSACoG) नेटवर्क के माध्यम से वेरिएंट को ट्रैक करने के लिए पॉजिटिव केस सैंपल के जीनोम सीक्वेंसिंग की कवायद को तेज करना आवश्यक है।

भारत में कोविड के प्रकोप की आशंकाओं के बीच, मनसुख मंडाविया ने कांग्रेस सांसद राहुल गांधी और राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को पार्टी की भारत जोड़ो यात्रा में कोविड मानदंडों के बारे में लिखा। मंडाविया ने कहा कि यात्रा के दौरान कोविड दिशा-निर्देशों का कड़ाई से पालन किया जाना चाहिए और मास्क, सैनिटाइजर के उपयोग को लागू किया जाना चाहिए।

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!