ChhattisgarhRaipur

पीएम मोदी की तारीफ की, अब मांगनी पड़ी माफी, खरगे ने भी की ऐसे बयान की आलोचना

0 रायगढ़ में आयोजित कार्यक्रम में सिंहदेव के उद्बोधन पर कार्यसमिति में हुई चर्चा

रायपुर। डिप्टी सीएम और प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव को रायगढ़ में आयोजित कार्यक्रम में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की प्रशंसा करना भारी पड़ गया। कांग्रेस कार्यसमिति की बैठक में यह मुद्दा उठा और सिंहदेव को इस पर माफी मांगनी पड़ी। मल्लिकार्जुन खरगे ने कहा कि जब पूरे देश में पीएम मोदी की गलत नीतियों के खिलाफ कांग्रेस और गठबंधन दमदार तरीके से खड़े हैं तो ऐसे में उनकी तारीफ करना कतई सही नहीं है।

क्या कह गए सिंहदेव?

सिंहदेव ने रायगढ़ में आयोजित कार्यक्रम के दौरान कहा था कि केंद्र से सहयोग मिलता है और प्रधानमंत्री राज्यों के साथ भेदभाव नहीं करते हैं। सिंहदेव का यह बयान कार्यसमिति की बैठक में इसलिए उठा क्योंकि भाजपा ने इसे हाथोंहाथ लपकते हुए विपक्ष के इस आरोप की हवा निकालने की कोशिश की कि मोदी सरकार गैर भाजपा राज्य सरकारों के साथ भेदभाव करती है।

खरगे ने दी नसीहत

पार्टी अध्यक्ष से जब सिंहदेव ने अपने बयान को लेकर माफी मांगी तो खरगे ने कहा कि उनके जैसे वरिष्ठ नेता की ओर से इस तरह की बातें आती हैं तो इनका गलत संदेश जाता है। इसलिए सभी को इस बात का ध्यान रखना है कि पार्टी की राजनीतिक लाइन से परे जाकर बयान न दिया जाए।

सैलजा ने भी लगाई फटकार

बताया जाता है कि छत्तीसगढ़ की प्रभारी कुमारी सैलजा ने भी सिंहदेव को खुले मंच से पीएम की तारीफ करने को लेकर डांट लगाई थी। बता दें कि उस सरकारी कार्यक्रम के दौरान सिंहदेव ने कहा था कि हम और केंद्र सरकार एक टीम की तरह काम करते हैं। हमारा अपना अनुभव है कि जब भी हमने कुछ मांगा है तो केंद्र ने उसे दिया और कभी इन्कार नहीं किया। हमने कभी भेदभाव महसूस नहीं किया। सिंहदेव के इस बयान पर मोदी ने हाथ जोड़ते हुए सिर हिलाया था।

इस कार्यक्रम में राज्य सरकार के प्रतिनिधि के रूप में टीएस सिंहदेव शामिल थे। उन्होंने छत्तीसगढ़ को बहुत सारी चीजें देने के लिए प्रधानमंत्री का धन्यवाद किया था।

उन्होंने कहा था, हमने हमेशा केंद्र सरकार के मार्गदर्शन में काम किया है और मैं यह कहने से नहीं चूकना चाहता कि मेरे अनुभव में मुझे कोई भेदभाव महसूस नहीं हुआ राज्य में, जब हमने केंद्र सरकार से कुछ मांगा तो केंद्र ने कभी भी मदद से इनकार नहीं किया। मेरा मानना है कि आगे चलकर, राज्य सरकार और केंद्र सरकार सभी क्षेत्रों में मिलकर काम करेंगी और देश और राज्य को आगे ले जाएंगी।

पार्टी ने इसे प्रोटोकॉल का पालन बताया था

इससे पहले पार्टी ने इस बयान को ये कहकर दरकिनार कर दिया था कि सिंहदेव केवल प्रोटोकॉल का पालन कर रहे थे। पूर्व वित्त मंत्री रहे पी चिदंम्बरम ने कहा था, सिंहदेव राजनीति को बीच में लाए बिना, प्रोटोकॉल के तहत अपनी भूमिका निभा रहे थे। वो जिस कार्यक्रम में शिरकत कर रहे थे उसमें केंद्र और राज्य सरकार को योजनाएं लॉन्च करनी थीं। इस तरह के कार्यक्रम में ये ज़रूरी था कि वो बीच में राजनीति न करें।

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता जयराम रमेश ने कहा कि टीएस सिंहदेव प्रधानमंत्री की तरह नहीं हैं जो हर सरकारी कार्यक्रम में दूसरे पर आरोप लगाएं, उन्होंने सरकारी कार्यक्रम में पीएम की आलोचना नहीं की।

Desk idp24

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!