National

5 दिन पहले ही पीएम ने किया था उद्घाटन , बारिश में बह गई बुंदेलखंड एक्सप्रेस-वे की मजबूती

5 दिन पहले ही बुंदेलखंड एक्सप्रेसवे की शुरुआत हुई थी और बारिश ने इसे लेकर किए गए सारे दावों की पोल खोल दी है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 16 जुलाई को जालौन में बुंदेलखंड एक्सप्रेस वे का शुभारंभ किया था. इसे लेकर कहा जा रहा था कि मजबूती की मिसाल बनने वाला है लेकिन बारिश ने इसकी मजबूती की पोल खोलकर रख दी है.

बड़े-बड़े इंजीनियरों ने मजबूती को ध्यान में रखते हुए इस एक्सप्रेस-वे का निर्माण किया था. लेकिन बारिश ने इसकी असलियत को सबके सामने रख दिया है. जालौन में एक जगह सड़क धंस गई है जिसके बाद समाजवादी पार्टी हमलावर होती दिखाई दे रही है. सड़क धंसने का जो वीडियो सामने आया है उसको शेयर करते हुए सपा ने कहा कि बारिश ने अधूरे पड़े बुंदेलखंड एक्सप्रेस वे की पोल खोलकर रख दी है. प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री द्वारा लोकार्पण किए गए एक्सप्रेस-वे ने पहली बारिश में ही दम तोड़ दिया है. अधूरे पड़े एक्सप्रेसवे को बुंदेलखंड वासियों के लिए सौगात बताने वाली भाजपा को इस पर शर्म आनी चाहिए.
इस मामले में सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष और पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा कि यह भाजपा के अधूरे विकास का नमूना है. बड़े-बड़े लोगों ने इसका उद्घाटन किया था, जिस का सच 1 हफ्ते में ही सामने आ गया. भ्रष्टाचार के बड़े-बड़े गड्ढे निकल आए हैं अच्छा हुआ इस पर रनवे नहीं बना.

बता दें कि बुंदेलखंड एक्सप्रेस वे के 195 किलोमीटर के पास बुधवार रात तेज बारिश की वजह से सड़क का कुछ हिस्सा धंस गया. इसके बाद UPEIDA ने इसकी मरम्मत का काम शुरू कर दिया. गुरुवार सुबह तक इसका मरम्मत कार्य जारी था और फिलहाल अधिकारी इस पर कुछ भी कहने से बच रहे हैं. बता दें कि 16 जुलाई को खुद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इस एक्सप्रेस वे का उद्घाटन करने के लिए जालौन पहुंचे थे.

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!