NationalPolitical
Trending

स्मृति ईरानी की बेटी पर लगा अवैध बार संचालित करने का आरोप

नई दिल्ली। केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी की बेटी पर गोवा में “अवैध बार” चलाने वाले कांग्रेस के मीडिया एवं प्रचार प्रमुख पवन खेड़ा के बयान पर अब वार-पलटवार शुरू हो गया है। एक ओर जहां पवन खेड़ा ने स्मृति ईरानी की बेटी पर फर्जी लाइसेंस से बार चलाने के आरोप लगाए,तो वही स्मृति ईरानी ने कहा राहुल गांधी को चुनाव में हराया इसलिए कांग्रेस बेटी को बदनाम कर रहे हैं।

बता दें कांग्रेस के मीडिया एवं प्रचार प्रमुख पवन खेड़ा ने पत्रकार वार्ता में संवाददाताओं से मुखातिब होते हुए बताया कि,केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी के परिवार पर भ्रष्टाचार के गंभीर आरोप लगे हैं। गोवा में उनकी बेटी द्वारा चलाए जा रहे रेस्त्रां सिली सोल्स पर शराब परोसने के लिए फ़र्ज़ी लाइसेंस जारी करवाने का आरोप लगा है और यह कोई ‘सूत्रों के हवाले से’ अथवा एजेंसियों द्वारा राजनीतिक प्रतिशोध लेने के लिए लगाया गया आरोप नहीं है, बल्कि सूचना का अधिकार (आरटीआई) के तहत प्राप्त जानकारी में खुलासा हुआ है।
इसके अलावा कांग्रेस ने एक कागजात जारी करते हुए दावा किया कि, आबकारी विभाग की ओर से स्मृति ईरानी की बेटी को ‘कारण बताओ नोटिस’ जारी किया गया था और जिस अधिकारी ने नोटिस दिया था, उसका कथित तौर पर तबादला किया जा रहा है।

पवन खेड़ा के मुताबिक,22 जून 2022 को लाइसेंस के नवीनीकरण के लिए जिस एंथनी डीगामा के नाम से आवेदन किया गया, उनकी पिछले साल मई में ही मौत हो चुकी है। खेड़ा ने यह सवाल भी किया, स्मृति ईरानी को बताना चाहिए ये धांधली किसके इशारे पर हो रही है? अवैध कार्यों को अंजाम देने के पीछे कौन है? जो स्मृति ईरानी कल तक राहुल गांधी जी और सोनिया गांधी जी को लेकर तरह-तरह के सवाल पूछ रही थीं, वो आज अपने पारिवारिक भ्रष्टाचार पर चुप क्यों है? साथ ही उन्होंने दावा किया,केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी की बेटी ने अपने ‘सिली सोल्स कैफे एंड बार’ के लिए फ़र्ज़ी दस्तावेज़ देकर बार लाइसेंस जारी करवाए हैं।
उन्होंने प्रधानमंत्री से तत्काल प्रभाव से स्मृति ईरानी को मंत्रिमंडल से बर्खास्त करने की मांग की।

वहीं दूसरी ओर स्मृति ईरानी ने कांग्रेस द्वारा लगाए गए आरोपों का खंडन करते हुए दुर्भावनापूर्ण करार दिया और उस पलटवार करते हुए दावा किया कि नेशनल हेराल्ड मामले में सोनिया और राहुल गांधी की 5,000 करोड़ रुपये की लूट पर उनके मुखर रुख के कारण उनकी बेटी को निशाना बनाया गया है।

स्मृति ईरानी ने कांग्रेस के आरोपों को खारिज करते हुए कहा, मेरी बेटी की गलती यह है कि उसकी मां सोनिया और राहुल गांधी की 5,000 करोड़ रुपये की लूट पर संवाददाता सम्मेलन करती है। उसकी गलती यह है कि उसकी मां ने 2014 और 2019 के लोकसभा चुनाव में राहुल गांधी के खिलाफ चुनाव लड़ा।

ईरानी ने संवाददाता सम्मेलन में कहा कि मेरी बेटी केवल अभी 18 साल की है और कॉलेज के पहले साल में जाएगी वह कोई भी बार संचालित नहीं करती है। कांग्रेस ने उनकी बेटी जोइश का चरित्र हनन किया और उसे निशाना बनाया। उन्होंने विपक्षी दल कांग्रेस को उनकी बेटी द्वारा कोई गड़बड़ी किए जाने का सबूत दिखाने की चुनौती दी।

वहीं,केंद्रीय मंत्री की बेटी के वकील कीरत नागरा ने एक बयान में कहा कि उनकी मुवक्किल ‘सिली सोल्स” नामक रेस्त्रां की न तो मालकिन है, और न ही इसका संचालन करती हैं तथा किसी प्राधिकार की तरफ से उन्हें कोई “कारण बताओ नोटिस” भी नहीं मिला है।

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!