Chhattisgarh

शिवनाथ का तेजी से बढ़ रहा जलस्तर, मोंगरा और गोंदली जलाशय से छोड़ा गया पानी, एनीकट से आवागमन बंद

दुर्ग. जिले के शिवनाथ नदी का जलस्तर तेजी से बढ़ रहा हैं। मोंगरा और गोंदली जलाशय से 11 हजार क्यूसेक पानी छोड़े जाने के बाद महमरा एनीकेट जहाँ पूरी तरह से बंद हो गया हैं। तो वही एनीकेट के ऊपर से चार फीट पानी बह रहा हैं। जिसके कारण एनीकेट से आवागमन बंद कर दिया गया हैं।शिवनाथ नदी अब पूरे उफान पर है। और इसका वेग मानो सबकुछ बहा ले जाने को तैयार हैं। जिले में करीब 300 सौ मिलीमीटर वर्षा होने का अनुमान हैं। मंगलवार और बुधवार को हुई झमाझम बारिश हुई। मोंगरा बैराज से जहां 8 हजार क्यूसेक पानी छोड़ा गया हैं। तो वही गोंदली जलाशय से भी 3 हजार क्यूसेक पानी को शिवनाथ में छोड़ा गया हैं। जिसके कारण नदी जलस्तर तेजी से बढ़ रहा हैं। इसके अलावा तांदुला नदी का पानी भी शिवनाथ में आकर मिल रहा हैं। जिसकी वजह से महमरा एनीकेट पूरी तरह जलमग्न हो गया हैं। तो वही इसके ऊपर से चार फीट तक पानी बह रहा हैं। जिला प्रशासन ने सुरक्षा की दृष्टि से एनीकेट के दोनों छोर को बंद कर दिया है।सुरक्षा को लेकर पुलिस की डायल 112 की टीम भी महमरा एनीकेट पर तैनात हैं। लेकिन उसके बाद भी नदी के उफान और उसके वेग को देखने के लिए लोग यहाँ इकट्ठा होने लगे है। लोग जान जोखिम में डालकर सेल्फी ले रहे है।हालांकि अभी जिले में औसत से 5 फीसदी कम बारिश हुई है। लेकिन पिछले दो तीन दिनों से जो खंड वर्षा हुई है। उसके कारण शिवनाथ का जलस्तर बढ़ गया है। जिसके कारण नदी तट से सटे करीब 15 गांवों को भी किनारे से दूरी बनाये जाने की मुनादी कराई गई है। ताकि अप्रिय स्तिथि न बन सके। इसके अलावा जिला प्रशासन ने एसडीआरएफ और एनडीआरएफ को भी अलर्ट रहने को कह रखा है।

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!