ChhattisgarhRaipur

‘ये कांग्रेस सुरक्षा कानून है’ रमन सिंह ने ‘रासुका’ को लेकर सरकार पर साधा निशाना

 रायपुर:  विधानसभा चुनाव से पहले छत्तीगसढ़ का सियासी पारा गरमा गया है। दरअसल एक बार फिर प्रदेश में रासुका लगाए जाने को लेकर भाजपा कांग्रेस के नेता आमने सामने आ गए हैं। इस मुद्दे को लेकर आज प्रदेश भाजपा अध्यक्ष और पूर्व सीएम रमन सिंह ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर प्रदेश की कांग्रेस सरकार पर जमकर निशाना साधा है। वहीं, भाजपा की इस प्रेस कॉन्फ्रेंस पर सीएम भूपेश बघेल और मंत्री कवास लखमा ने भी अपनी प्रतिक्रिया दी है।

भाजपा प्रदेश अध्यक्ष अरुण साव ने मीडिया को संबोधित करते हुए कहा कि राज्य सरकार ने अधिसूचना जारी की है जो 3 जनवरी से लागू है। कलेक्टर को अधिकार दिया है कि वे रासुका लगा सकते हैं। ये अधिसूचना सरकार के खिलाफ उठने वाली आवाज को दबाने वाली है और तानाशाही लागू करने के लिए है। BJP अधिसूचना के खिलाफ पूरी ताकत से लड़ाई लड़ेगी।

वहीं, पूर्व सीएम रमन सिंह ने कहा कि ये कांग्रेस सुरक्षा कानून है। कांग्रेस ने एक बार फिर से आपातकाल लगाने की तैयारी कर ली है। ऐसी क्या परिस्थिति बन गई है कि ये अधिनियम लाना पड़ रहा है। क्या कानून व्यवस्था की स्थिति इनसे सम्भल नहीं रही है?

भाजपा के आरोपों पर प्रतिक्रिया देते हुए सीएम भूपेश बघेल ने कहा कि राष्ट्रीय सुरक्षा कानून केंद्र सरकार का है। रासुका पर BJP हाय-तौबा मचा रही है। रासुका का रिवाइज 4-6 महीने में होता है, इसकी जानकारी मुझे भी नहीं थी। लेकिन अधिकारियों ने मुझे इस बात की जानकारी दी है।

वहीं, भाजपा के आरोपों पर मंत्री कवासी लखमा ने करारा पलटवार करते हुए कहा कि BJP के पास कोई मुद्दा नहीं, कानून का पालन सभी को करना है। धर्मांतरण की कोशिश होगी तो उस पर रोक लगाने की कार्रवाई होगी। BJP के लोग कानून का सम्मान नहीं कर रहे हैं। अभी रासुका लगा नहीं इनके पेट में दर्द हो रहा। छत्तीसगढ़ के लोगों को बीजेपी बदनाम करने का काम कर रही है। BJP के नेता बताए 15 साल में कितने चर्च बने?

छत्तीसगढ़ के भाजपा सांसद को केंद्रीय मंत्रिमंडल में जगह दिए जाने को लेकर मंत्री कवासी लखमा ने कहा कि ये छत्तीसगढ़ के सभी सांसदों को बना दे। BJP चाहे रमन सिंह को मंत्री बनाए या किसी को भी उसका स्वागत हैं। लेकिन इन्होंने छत्तीसगढ़ के पैसे को रोककर रखा है। चुनाव को देखकर ये मंत्री बनाए या कंत्री हमे कोई आपत्ति नहीं।

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!