ChhattisgarhMahasamund

चाचा-भतीजा ने मिलकर बुआ की हत्या को दिया अंजाम, जाने क्या है पूरा मामला…

महासमुंद। जिले के बसना थाना अंतर्गत पौसरा गाँव में एक 37 वर्षीय महिला की गला काट कर ब्लाइंड हत्या कांड मामले में पुलिस 72 घंटे के भीतर हत्या के दोनों आरोपी को गिरफ्तार किया। पुलिस ने बताया कि निमिमोती पिता समयलाल निवासी पौसरा घर में अकेली रहती थी। बकरी पालन कर अपना जीवन यापन करती थी। जिसे किसी अज्ञात व्यक्ति द्वारा धारदार हथियार से गला रेत कर हत्या कर मृतिका के शव को घर के पीछे बाड़ी के कुंआ नुमा गड्ढे में दफना देने की खबर आई. इस रिपोर्ट पर बसना पुलिस एवं साइबर सेल की टीम घटना स्थल का निरीक्षण किया।

शव निरीक्षण एवं प्राप्त शार्ट पीएम रिपोर्ट के आधार पर विवेचना के दौरान गवाहों के कथन में निमी मोती पटेल का पूर्व में उसके भाई निमीचंद पटेल एवं उसके भतिजा सूरज पटेल से जमीन एवं मकान बेचने की बात पर विवाद होना बताने पर शंका के आधार पर निमीचंद पटेल एवं सूरज पटेल से कड़ाई से पुछताछ करने पर बताया, कि सूरज पटेल की शादी एवं निमीचंद पटेल के ट्रेक्टर खरिदने से दोनो के ऊपर कर्ज ज्यादा हो जाने कारण मृतिका निमीमोती पटेल को ग्राम पौंसरा के जमीन एवं घर को बेंचकर ग्राम-भण्डारपुरी उडिसा रहने को कहा, लेकिन निमिमोती द्वारा इंकार करने पर आरोपी चाचा-भतीजा द्वारा निमिमोती को हांथ-मुक्का से मारपीट कर सूरज पटेल द्वारा पेंचकस से उसके गले में वार कर दिया।

जिससे नीमीमोती जमीन मे गिर पर गई, तब आरोपी निमीचंद पटेल द्वारा मृतिका के दोनो पैर को पकड़ लिया एवं सूरज वहीं पास में रखे बिना बेंट वाली फावडा से हत्या करने के नियत से उसके गले में 3-4 बार वार कर किया जिससे निमीमोती की मृत्यु हो गई। निमीमोती के लाश को छुपाने के लिए उसे उसके घर के पिछे बाड़ी मे स्थित कुंए में गिरा कर दफना दिया। पुलिस ने हत्या में प्रयुक्त सभी सामग्रियों को जप्त कर आरोपियों को भादवि की धारा 302, 201, 34 के तहत गिरफ्तार कर न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया गया है।

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!