National

TV सीरियल देखकर सीखती थी मर्डर करने के तरीके, पत्नी ने की पति और ससुर की हत्या

 कानपुर। कानपुर में एक हैरान करने खुलासा हुआ है। प्रेमी से शादी और पति की करोड़ों की प्रॉपर्टी हड़पने के लिए एक महिला ने पहले ससुर और फिर पति को दवाओं के ओवरडोज से मार डाला। तीन महीने पहले ससुर को ओवरडोज देकर इतनी सफाई से मारा कि किसी को भनक तक नहीं लगी।

महिला ने इसके बाद पति की हत्या के लिए 3 लाख की सुपारी प्रेमी को दी। पति घातक हमले से बच गया। 5 दिन हॉस्पिटल में भर्ती रहा, फिर डिस्चार्ज होकर घर पहुंचा। वहां पत्नी ने उसे दवाओं की ओवरडोज दी। दो दिन बाद तबीयत बिगड़ने पर पति को हॉस्पिटल ले जाया गया। वहां उसकी मौत हो गई। मृतक का नाम ऋषभ तिवारी था। घटना कल्याणपुर के शिवली रोड की है।

वारदात के 13 दिन बाद शुक्रवार देर शाम पुलिस ने इस सनसनीखेज हत्याकांड का खुलासा किया। घटना का खुलासा होने पर इलाके के लोग दंग रह गए हैं। बता दें कि सचेंडी थाना क्षेत्र के रहने वाले ऋषभ त्रिपाठी का विवाह 2020 में सपना से हुआ था, मगर सपना का पहले से राजू गुप्ता नाम के शख्स से अफेयर था। जिसे वो विवाह के बाद भी नहीं भुला सकी और इसी लिए उसने पति को रास्ते से हटाने और उसकी संपत्ति हड़पने की साजिश रची।

इसके लिए शातिर पत्नी ने प्रेमी की मदद ली। वो पति की हत्या की साजिश रच ही रही थी कि 27 अक्टूबर को एक शादी का कार्ड आया। इसमें ऋषभ को जाना था। उसने क़त्ल करने के लिए इसी दिन को चुना। साजिश के मुताबिक, शादी से लौटते वक़्त रास्ते में ऋषभ पर हमला हुआ। इसमें वो गंभीर रूप से जख्मी हो गया, मगर जान बच गई। वह कई दिन तक एक हॉस्पिटल में भर्ती रहा। उसे इस बात की भनक नहीं लगी कि हमला उसकी पत्नी ने ही करवाया है। शातिर महिला ने इस हमले का आरोप पड़ोसी पर लगाया और प्राथमिकी भी दर्ज करा दी। प्रेमी के इश्क में डूबी महिला को ये नहीं पता था कि यही FIR उसे जेल की सलाखों के पीछे पहुंचाएगी।

जब ऋषभ ठीक होकर घर लौटा, तो सपना ने हत्या का नया प्लान बनाया। उसने किसी टीवी सीरियल में देखा था कि किसी को दवाइयों के ओवरडोज से इतना बीमार किया जा सकता है कि उसकी जान चली जाए। इसी साजिश के तहत उसने दवाइयों का ओवरडोज देना चालु कर दिया। इसके लिए उसने घर के सामने मेडिकल स्टोर वाले सुरेंद्र सिंह को भी अपने हुस्न के जाल में फंसा लिया और उससे दवा मंगाने लगी। इसी दौरान मेडिकल स्टोर वाले से ऋषभ को ऐसा इंजेक्शन भी लगवा दिया, जिससे उसकी हालत एकदम खराब हो गई। उसका लीवर डैमेज हो गया। आखिरकार उसे हैलट हॉस्पिटल में एडमिट कराया गया, जहां ऋषभ ने दम तोड़ दिया।

इसके बाद पुलिस ने शव का पोस्टमार्टम कराया, मगर मौत का कोई कारण पता नहीं चल पाया। इस पर पुलिस ने बिसरा सुरक्षित रख लिया। वहीं, सचेंडी पुलिस मामले में छानबीन कर ही रही थी। इसका कारण ये था कि सपना ने पति पर हमले के बाद थाने में अपने पड़ोसी विश्वकर्मा के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कराई थी। इसी जांच के दौरान पुलिस को घटनास्थल पर मिले दो लोगों की मोबाइल लोकेशन से पता चला कि ये लोग सपना के सम्पर्क में थे।

पुलिस ने जांच आगे बढ़ाई तो तीनों की चौंका देने वाली मोबाइल चैट सामने आई। इसमें पता चला कि ऋषभ पर हमला करने के बाद राजू ने सपना को मैसेज किया था कि काम हो गया। इस पर सपना ने उसको मैसेज भेजा कि (ऋषभ) बच गया है। इस खुलासे के बाद पुलिस ने तीनों से सख्ती से पूछताछ की, तो सपना ने सारा राज उगल दिया। उसने बताया कि पति के पास बहुत संपत्ति थी और उसका प्रेम प्रसंग राजू से चल रहा था। इसीलिए उसने पहले पति पर हमला करवाया। जब वह बच गया तो वह एक सीरियल में देखकर साजिश के तहत उसको दवाइयों का ओवरडोच देने लगी।

पुलिस का कहना है महिला ने स्वीकार किया है उसने 4 महीने पहले अपने बुजुर्ग ससुर को भी दवाओं का ओवरडोज देकर इतना बीमार कर दिया था कि उनकी जान चली गई थी। इस मामले में महिला के साथ ही उसके प्रेमी राजू, हत्या में शामिल सीटू के साथ मेडिकल स्टोर वाले सुरेंद्र को अरेस्ट कर लिया है। वहीं, राजू का कहना है कि उसने सिर्फ हमला किया था, जिसके लिए सपना ने 3 लाख रुपये दिए थे।

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!