National

प्रेग्नेंसी में इन 5 फूड्स के सेवन से हो सकता है बच्चे की जान को खतरा, देखें लिस्ट

मां बनना किसी भी महिला की जिंदगी का सबसे सुखदायक पल होता है। कंसीव करने के बाद से महिलाओं को अपनी सेहत का विशेष ध्यान रखने की जरूरत होती है। हर महिला की प्रेग्नेंसी में लक्षण अलग-अलग होते हैं। प्रेग्नेंसी में महिलाओं को अपनी सेहत का ध्यान रखना जरूरी है। प्रेग्नेंट महिला हेल्दी रहेगी तो उसका बच्चा भी सेहतमंद रहेगा। इस दौरान महिलाओं की डाइट बेहद मायने रखती है। प्रेग्नेंसी में महिलाओं की बॉडी में कई तरह के बदलाव होते हैं। इस दौरान अच्छा खान-पान और फिजिकल एक्टिविटी प्रेग्नेंट महिला और उसके बच्चे की सेहत के लिए जरूरी है।

प्रेग्नेंसी में मदर अच्छी डाइट ले तो उसका बच्चा हेल्दी रहता है और उसकी संपूर्ण ग्रोथ होती है। कंसीव करने के बाद संतुलित और पौष्टिक आहार लेने से शिशु का सही विकास होता है। अगर प्रेगनेंट महिला पर्याप्‍त पोषण ले तो इससे उसका बच्‍चा भी स्‍वस्‍थ रहता है। इस दौरान कुछ फूड का सेवन करने से मिसकैरेज का खतरा हो सकता है। आइए जानते हैं कौन से ऐसे फूड हैं जो प्रेग्नेंसी में बच्चे को नुकसान पहुंचा सकते हैं।

पपीता से करें परहेज: कंसीव करने के बाद डाइट में पपीता से परहेज करें। एक्सपर्ट के मुताबिक प्रेग्नेंसी में पपीता खाना खतरनाक हो सकता है। इसमें लेटेक्स की मात्रा ज्यादा होती है, जो गर्भ के सिकुड़ने का कारण बनता है। इसका सेवन करने से मिसकैरेज का खतरा रहता है। पपीता में विटामिन सी, ई और फाइबर भरपूर होता है जो सेहत के लिए फायदेमंद होता है लेकिन प्रेग्नेंसी में इसका सेवन सेहत को नुकसान पहुंचा सकता है।

अनानास खाने से बचें: खट्टे फल प्रेग्नेंसी में नुकसान पहुंचा सकते हैं। इसमें ब्रोमेलिन नामक तत्व पाया जाता है जिससे डिलिवरी जल्दी होने का खतरा बढ़ जाता है। अनानास का स्वाद खट्टा होता है इसलिए प्रेगनेंसी में अनानास खाने से परहेज करना चाहिए।

तुलसी पहुंचा सकती है नुकसान: औषधीय गुणों से भरपूर तुलसी का सेवन करने से इम्युनिटी स्ट्रॉन्ग रहती है। सेहत के लिए उपयोगी तुलसी का सेवन प्रेग्नेंसी में महिलाएं को बिल्कुल भी नहीं करना चाहिए। तुलसी में मौजूद एस्ट्रोगोल गर्भपात का जोखिम बढ़ा सकता है। प्रेग्नेंसी में तुलसी के पत्तों का सेवन किसी भी तरह से करना नुकसान पहुंचा सकता है।

प्रोसेस्ड फूड बढ़ा सकते हैं मुश्किल: प्रेग्नेंसी में ज्यादा कैलोरी का सेवन बच्चे की जान ले सकता है। कंसीव करने के बाद ज्यादा कैलोरी वाली चीजें, प्रोसेस्ड या पैकेज्ड फूड, अल्कोहल, ज्यादा कैफीन, आर्टिफिशियल स्वीटनर, तली भुनी चीजें, कच्चा अंडा और कच्ची मछली खाने से परहेज करें।

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!