Chhattisgarh

राज्य स्तरीय युवा महोत्सव : लोकनृत्य प्रतियोगिता में रायपुर संभाग के जिला धमतरी एवं बिलासपुर संभाग के जिला गौरेला-पेंड्रा-मरवाही पहले स्थान पर

रायपुर/ राजधानी रायपुर के साईंस कॉलेज मैदान में चल रहे राज्य स्तरीय युवा महोत्सव -2023 के अंतर्गत पहले दिन आयोजित लोकनृत्य प्रतियोगिता में आज प्रदेश के सभी संभागों से आए लोकनृत्य दलों के सदस्यों ने अपनी प्रस्तुतियों से दर्शकों का मन मोह लिया। 15 से 40 वर्ष एवं 40 वर्ष से अधिक आयुवर्ग की दो श्रेणियों में आयोजित इस प्रतियोगिता के 15 से 40 वर्ष आयुवर्ग में पहला स्थान रायपुर संभाग के जिला धमतरी, दूसरा स्थान बिलासपुर संभाग के जिला जांजगीर-चांपा एवं तीसरा स्थान दुर्ग संभाग के जिला खैरागढ़-छुईखदान-गंडई के लोकनृत्य दल ने हासिल किया। वहीं 40 वर्ष से अधिक तक के आयुवर्ग में पहला स्थान बिलासपुर संभाग के जिला गौरेला-पेंड्रा-मरवाही, दूसरा स्थान दुर्ग संभाग के जिला राजनांदगांव एवं तीसरा स्थान रायपुर संभाग के जिला महासमुन्द के लोकनृत्य दल ने प्राप्त किया।

शुरुआती चरण में 15 वर्ष से 40 वर्ष तक के आयुवर्ग में रायपुर, बिलासपुर, सरगुजा और दुर्ग संभाग से 40 वर्ष से अधिक के आयुवर्ग में रायपुर, दुर्ग संभाग, बिलासपुर और सरगुजा संभाग के लोकनृत्य दलों ने गेड़ी नृत्य एवं डंडा नृत्य की प्रस्तुति दी। इस अवसर पर पहला स्थान पाने वाले धमतरी के लोकनृत्य दल ने पारंपरिक वेशभूषा में गेड़ी पारंपरिक नृत्य की प्रस्तुति से दर्शकों का दल जीत लिया, इस दल के पुरुष एवं युवती सदस्यों ने छत्तीसगढ़ के पारंपरिक परिधानों के साथ मनोरम नृत्य प्रस्तुत किया। वहीं दूसरा स्थान पाने वाले जांजगीर-चांपा जिले से आए लोकनृत्य दल के सभी सदस्य लाल वेशभूषा एवं सिर पर कलगी गमछा बांधे एवं तीसरा स्थान प्राप्त करने वाले खैरागढ़-छुईखदान-गंडई जिले के लोकनृत्य दल के पुरुष सदस्य पीले एवं हरे परिधान में, कलगी गमछा बांधे हुए एवं युवतियां पारंपरिक वेशभूषा एवं आभूषणों से सुसज्जित होकर नृत्य प्रस्तुत किया।

प्रतियोगिता में 40 से अधिक आयुवर्ग में प्रथम स्थान प्राप्त करने वाले गौरेला-पेंड्रा-मरवाही जिले के लोकनृत्य दल के सभी पुरुष सदस्य पीला कुर्ता, नीला कोट एवं सफेद धोती के परिधान एवं गमछा कलगी बांधे हुए एवं दूसरा स्थान पाने वाले राजनांदगांव जिले के लोकनृत्य दल द्वारा छत्तीसगढ़ के लोक रिवाजों को प्रतिबिंबित करते हुए पारंपरिक वेशभूषा के साथ और तीसरे स्थान पर आने वाले महासमुन्द जिले के लोकनृत्य दल ने रोमांचकारी सामंजस्य के साथ कदम से कदम मिलाकर बेहतरीन प्रस्तुति दी। राज्य स्तरीय युवा महोत्सव के अंतर्गत मुख्य मंच में हो रहे लोकनृत्यों की प्रस्तुतियों के प्रति दर्शकों में जबरदस्त उत्साह देखने को मिला।

Desk idp24

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!