International

IRCTC तेजस के यात्रियों को देगा पेनॉल्टी: 700 यात्रियों को 250 रुपये के हिसाब से चुकाना होगा मुआवजा

लखनऊ अमौसी रेलवे स्टेशन पर ओएचई यानी ओवरहेड इलेक्ट्रिक लाइन टूटने से तेजस समेत 47 ट्रेनें बाधित हुईं। ये ट्रेनें शुक्रवार रात से शनिवार तड़के तक करीब छह घंटे तक प्रभावित रही। इसका असर शनिवार सुबह तक ट्रेनों पर पड़ा रहा। इस दौरान तेजस एक्सप्रेस भी अमौसी में तीन घंटे खड़ी रहने के बाद डीजल इंजन से लखनऊ पहुंची

ट्रेन में 700 यात्री सफर कर रहे थे। आईआरसीटीसी नियम के मुताबिक हर यात्री को 250 रुपये मुआवजा देगा। आईआरसीटीसी यात्रियों के दर्ज मोबाइल फोन नंबर पर मुआवजा का दावा करने का लिंक भेजेगा। इस लिहाज से आईआरसीटीसी को पौने दो लाख रुपये चपत लगी।

अमौसी स्टेशन पर शुक्रवार रात 9:35 बजे ओएचई लाइन टूट गई थी। नई दिल्ली से लखनऊ आ रही तेजस भी चपेट में आ गई। सूचना पाकर रेलवे कर्मचारी मौके पर पहुंचे। तेजस चार घंटे अमौसी में खड़ी होने के बाद लखनऊ जंक्शन रात डेढ़ बजे पहुंच सकी। लखनऊ से शनिवार को यह ट्रेन दो घंटे देरी से रवाना हुई। इस कारण नई दिल्ली से भी शनिवार को तेजस डेढ़ घंटे लेट चली।

तीन दर्जन ट्रेनें, मालगाड़ी छह घंटे लेट

गोमती एक्सप्रेस अमौसी में रात 9:29 से तड़के 3:15 बजे तक खड़ी रही। इसी तरह चंपारण हमसफर सोनिक में, आनंद विहार-मऊ एक्सप्रेस मगरवारा में खड़ी रही। साबरमती एक्सप्रेस कानपुर रात 11:38 बजे आकर लखनऊ सुबह 5:20 बजे, मरुधर एक्सप्रेस ट्रेन शनिवार सुबह 7:50 बजे पहुंच सकी।

आनंद विहार गोरखपुर हमसफर एक्सप्रेस शनिवार सुबह 7:25 बजे करीब पांच घंटे की देरी आई। वहीं महाकाल एक्सप्रेस कानपुर रात 10:54 बजे पहुंची पर लखनऊ सुबह 4:55 बजे पहुंची।

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!