NationalPoliticalUncategorized

Karnataka Hijab: भीड़ ने लगाया जय श्री राम केंद्रीय मंत्री प्रह्लाद जोशी ने कहा- ड्रेस कोड का पालन होना चाहिए

कॉलेज में दीवार पर नोटिस लगा दिया गया कि क्लास में यूनिफॉर्म अनिवार्य है, उसके बाद भी छात्र हिजाब पहन कर कॉलेज आते रहे. कॉलेज में छात्रों का आना-जाना लगा रहा। छात्रों ने कॉलेज प्रशासन से मांग की कि शिक्षा उनका अधिकार है, इसलिए उनके लिए अलग कमरे में कक्षाओं की व्यवस्था की जानी चाहिए.कर्नाटक में क्लास में हिजाब पहनने को लेकर विवाद की चिंगारी अब एक कॉलेज से लेकर कई कॉलेजों तक फैल गई है. एक पक्ष इस तर्क के समर्थन में है। विरोध करने वाले छात्रों का एक समूह भगवा शॉल पहनकर कॉलेज में आने लगा, जो हिजाब-भगवा झगड़े में बदल गया।

विजयपुरा, शांतेश्वर कॉलेज में आज (सोमवार) यानि 7 फरवरी को कुछ छात्र भगवा स्टाल लगाकर परिसर में पहुंचे. जिसके बाद विवाद बढ़ने की आशंका को देखते हुए कक्षाओं को निलंबित कर दिया गया और परिसर को बंद कर दिया गया.

कुंदापुरा कॉलेज में दीवार पर नोटिस चस्पा कर दिया गया है, क्लास में यूनिफॉर्म अनिवार्य है, उसके बाद भी छात्र हिजाब पहन कर कॉलेज आते रहे. छात्रों ने इस बारे में कॉलेज प्रशासन से बात भी की और यह भी मांग की कि शिक्षा उनका अधिकार है, इसलिए उनके लिए अतिरिक्त कमरे में कक्षाओं की व्यवस्था की जानी चाहिए. आपको बता दें कि कॉलेज में धार्मिक पहचान के कपड़े पहनने को लेकर विवाद कर्नाटक में दिसंबर 2021 से शुरू हुआ, जब एक कॉलेज को क्लास के अंदर हिजाब पहनने की मनाही थी। इस पर 8 मुस्लिम छात्राओं ने विरोध किया और कहा कि कॉलेज उन्हें हिजाब पहनने से नहीं रोक सकता क्योंकि यह उनकी धार्मिक स्वतंत्रता है. इसके विरोध में अन्य धर्मों के छात्र भगवा माला और शॉल पहनकर कॉलेज आने लगे, जिसके बाद यह विवाद दूसरे कॉलेजों तक बढ़ता चला गया। इस मामले पर अब कर्नाटक हाईकोर्ट में सुनवाई चल रही है, जिसके बाद ही कोई फैसला लिया जा सकता है.

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!