National

मुख्यमंत्री लाड़ली बहना सम्मेलन में मुख्यमंत्री ने किया लाड़ली परिवार से संवाद

महिला सशक्तिकरण की योजनाओं से अगले 5 वर्षों में आएगा नया जमाना : मुख्यमंत्री श्री चौहान
13 जून को होगा किसानों का 2100 करोड़ का ब्याज माफ
फसल बीमा और किसान सम्मान निधि भी मिलेगी किसानों को
रायसेन के बम्होरी में हुआ विशाल मुख्यमंत्री लाड़ली बहना सम्मेलन
328 करोड़ से अधिक के निर्माण और विकास कार्यों का भूमि-पूजन और लोकार्पण
बम्होरी बनेगी तहसील और 30 बिस्तर का अस्पताल भी बनेगा
सुल्तानगंज को मिलेगा तहसील का दर्जा, उदयपुरा में खुलेगा एस.डी.एम. कार्यालय

Related Articles

भोपाल / मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि  लाड़ली बहना योजना सहित महिला सशक्तिकरण की उनकी योजनाओं से अगले 5 वर्ष में अन्याय,अशिक्षा और गरीबी को पछाड़ कर नया जमाना आएगा। मुख्यमंत्री श्री चौहान बुधवार को रायसेन जिले के बम्होरी कस्बा गाँव में लाड़ली बहना  सम्मेलन तथा आवासीय भू-अधिकार पत्र वितरण कार्यक्रम में बहनों और बड़ी संख्या में आए ग्रामीणों से संवाद कर रहे थे। मुख्यमंत्री ने सिलवानी तथा उदयपुरा विधानसभा क्षेत्र की जनता को 328 करोड़ 4 लाख 20 हजार रुपये के विकास कार्यों की सौगात भी दी।  कार्यक्रम में 319 करोड़ रूपये से अधिक राशि के विभिन्न कार्यों का शिलान्यास तथा भूमि-पूजन और 8 करोड़ 45 लाख रुपये से अधिक राशि के विभिन्न कार्यो का लोकार्पण भी हुआ। इस अवसर पर लोक स्वास्थ्य परिवार कल्याण मंत्री डॉ. प्रभुराम चौधरी, सांसद श्री रमाकांत भार्गव, विधायक श्री रामपाल सिंह और श्री सुरेन्द्र पटवा सहित जन-प्रतिनिधि उपस्थित थे।

मुख्यमंत्री ने कहा कि किसान भी खुश हो जाए,अगले सप्ताह 13 जून को वे किसानों के सिर पर चढ़ा 2100 करोड़ का ब्याज भर देंगे, किसानों के खातों में फसल बीमा के 2900 करोड़ के अलावा दो-दो हजार रुपए की किसान सम्मान निधि भी डाली जाएगी।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने बम्होरी कस्बा और सुल्तानगंज को तहसील बनाने और उदयपुरा के लिए एस डी एम आफिस बनाने की घोषणा की। उन्होंने बम्होरी काबा को नगर परिषद बनाए जाने के साथ ही 30 बिस्तर के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र खोलने की भी घोषणा की। मुख्यमंत्री ने सिलवानी और बेगमगंज के कॉलेज को अगले सत्र से स्नातकोत्तर करने की भी घोषणा की। उन्होंने बहनों को लाड़ली बहना योजना के स्वीकृति पत्र के अलावा,आवासीय भू अधिकार पत्र और आजीविका मिशन को राशि के स्वीकृति-पत्र भी वितरित किए।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने हर गाँव में लाड़ली बहना सेना का तत्काल गठन किए जाने का उल्लेख करते हुए कहा कि ये सेनाएँ सरकार की आँखें होंगी, जो विकास और हितग्राहीमूलक योजनाओं की निगरानी कर उन्हें लागू करवाएगी। छोटे गाँव में 11 और बड़े गाँव में 21 बहनों की सेना होगी। यह सेना और सभी बहनें अब लाड़ली परिवार होंगी, जो सहयोग और संगठन के साथ गरीबी दूर करने का हथियार बनेगी।

मुख्यमंत्री ने बहनों को भरोसा दिलाया कि वे अपनी अंतिम साँस तक बेटियों, बहनों और माताओं के सम्मान के लिए काम करते रहेंगे। उन्होंने कहा कि लाड़ली बहना योजना सामाजिक क्रांति है और महिला सशक्तिकरण के नए युग का सूत्रपात है। उनके द्वारा बनाई गई लाड़ली लक्ष्मी, मुख्यमंत्री कन्या-विवाह जैसी योजनाओं ने जहाँ समाज में बेटियों को अभिशाप से वरदान बनाया है, वहीं स्थानीय संस्थाओं के चुनाव और शासकीय सेवाओं में आरक्षण से आधी आबादी की सत्ता के साथ विकास में पर्याप्त भागीदारी सुनिश्चित हुई है।

मुख्यमंत्री ने योजनाओं को बंद करने के लिए पूर्ववर्ती सरकार की आलोचना करते हुए कहा कि हमने गरीबों के कल्याण की सभी योजनाएँ फिर प्रारंभ कर दी है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि अब वे मेधावी बेटियो को लैपटाप के साथ ई स्कूटी भी देंगे और पात्र भांजे-भांजियों की उच्च शिक्षा की फीस भी भरेंगे। प्रदेश में कोई भी बेघर नहीं रहेगा और सरकार उन्हें भूखंड भी देगी।

मुख्यमंत्री ने बहनों से कहा कि अब उन्हें अपनी छोटी-छोटी जरूरतों के लिए मोहताज नहीं होना पड़ेगा, 10 जून को उनके खाते में 1000 रुपए की राशि आएगी। उन्होंने 8 जून को लाड़ली बहना ग्राम सभा और 9 और 10 जून को उत्सव मनाने की अपील की। इससे पहले सभा को सांसद श्री रमाकांत भार्गव और विधायक श्री रामपाल सिंह ने भी संबोधित किया।

Desk idp24

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!