Uncategorized
Trending

ईसाइयों द्वारा प्रदेशव्यापी आंदोलन की चेतावनी, धार्मिक स्थल में तोड़फोड़ को लेकर फूटा गुस्सा

डोंगरगढ़। विगत 3 जुलाई को कलवारी पहाड़ डोंगरगढ़ स्थित कैथोलिक ईसाई समुदाय के धार्मिक स्थल पर प्रभु यीशु मसीह , माता मरियम एवं संतों की मूर्ति को तोड़कर नुकसान किए जाने की घटना को लेकर मसीह समाज में काफी आक्रोश व्याप्त है।
अखिल भारतीय ईसाई समुदाय अधिकार संगठन के अध्यक्ष गुरविंदर सिंह चडडा , महासचिव वर्जीनिया गनियन ,आर्च बिषप बी स्वामी लाडलु , पास्टर अनिल कुमार , पास्टर विल्सन हिचकेल ,पास्टर दिलबाग सिंह ,पास्टर विपीन लॉरेंस , पास्टर डेविड राज, पास्टर गौरीलाल निराला, संत जोसफ महागिरजा धर के सचिव निकोलास सिंह, सिल्वेक्टर एक्का, आंनद टोप्पो, आई जेक मिंज, विजय रविकान्त रुण्डा, प्रणब टोप्पो, पिटर सायमन, जोनपौल, येशुपौल, जो फर्नाडिस, राजेश जकरिया , कानु सी एच पाल, श्रीमति हैलन हिचकेल, मेरी फार्सीस, बिन्दु मसीह, समेत तमाम ईसाइयों ने इस घटना की कड़ी निंदा की है।

वही इस तरह से धार्मिक स्थल को नुकसान पहुंचाने को लेकर कैथोलिक चर्च डोंगरगढ़ के फादर किशोर एक्का द्वारा 4 जुलाई को डोगरगढ़ पुलीस थाना में ईसाई समुदाय के सैकड़ों लोगों के साथ जा कर रिपोर्ट भी दर्ज करवाई गई थी लेकिन, पुलीस धारा 295 ए का अपराध दर्ज कर केवल खानापूर्ति कर रही है। और आज 4 दिन बीत जाने के बावजूद भी ऐसा करने वाले अपराधियों पर कोई कार्रवाई नहीं कर पाई है।


पुलीस की इस सुस्त कार्यवाई से प्रदेश के ईसाई समुदाय आक्रोश मे है। वहीं इस मामले को लेकर समाज प्रमुख का कहना है कि, यह बडे दुख की बात है की जब अल्पसंख्यकों के उपर कोई वर्ग विशेष समुदाय या धार्मिक संगठन,सुनयोजिक ढंग से योजना बना कर हमला करते है तो प्रदेश की पुलीस मुक दर्शक बन कर अल्पसंख्यक ईसाई समुदाय के उपर हमला करने वालो को संरक्षण देकर धटना को अंजाम देने तक चुप रहती है।


इसका प्रमाण हमारे पास है जिस जिला दुर्ग मे मुख्यमंत्री , गृहमंत्री, सहीत दो दो वरिष्ठ मंत्री एंव संसदीय सचिव का निवास स्थल है उसी जिले मे प्रदेश के सब से अधिक ईसाई समुदाय के धार्मीक स्थल व पुरोहितो के उपर हमले हुऐ है‌। अब समय आ गया है की ईसाई समुदाय को अपने धार्मिक समाजिक सुरक्षा एवं आजादी के हक के लिऐ कठोर कदम उठाने पडेगे।

अखिल भारतीय ईसाई समुदाय अधिकार संगठन के अध्यक्ष गुरविंदर सिंह चडडा ने कहा कि,आज भारत देश मे अपनी राजनैतिक लाभ लेने के उद्देश्य से राजनैतिक दल एवं कुछ स्वंयम्भू संगठन ईसाई व मुस्लिम समुदाय पर धार्मिक हमला कर देश में शांती आपसी भाई चारा को नष्ट कर अपनी ओछी राजनैतिक लाभ उठा रहे है। पहले मुस्लिम समाज पर धार्मिक हमला किया गया और अब ईसाई समुदाय पर धार्मिक हमला किया जा रहा है। जो निंदनीय है।

डोगरगढ कलवारी पहाड पर प्रभु येशु मसीह, माता मरीयम की पवित्र मुर्ती को तोडने वालो की गिरफ्तारी की मांग करते हुऐ श्री चड्डा ने कहा कि, अरोपीयो की गिरफ्तारी शीघ्र ना होने पर मुख्य मंत्री एवं राज्यपाल को ज्ञापन शौप कर प्रदेशव्यापी उग्र अदोलन कर ईसाई समुदाय अपना विरोध प्रगट करेगा।
इस धटना के विरोध मे कैथोलिक चर्च डोगरगढ मे आज दोपहर 1बजे से 2 बजे तक आराधना बिनती कर 2 बजे मौन रैली निकाल कर अनुविभागीय अधिकारी को ज्ञापन शौप कर आरोपीयो की गिरफ्तारी की मांग की जाऐगी।

इधर,इसी धटना को लेकर रायपुर मे कैंडल मार्च कर अरोपीयो की गिरफ्तारी की मांग लेकर राज्यपाल व मुख्य मंत्री के नाम का ज्ञापन शौपा जाएगा।
इस समाजिक जन अदौलन मे दिनांक 9 जुलाई 2022 को शाम 5 बजे ईसाई समुदाय के सभी पास्टर संगठन , समाजिक. संगठन एवं विश्वासिगण अधिक से अधिक संख्या मे अम्बेक्टर चौक मे उपस्थित होकर अपना विरोध दर्ज कराने की बात भी उनके द्वारा की गई है।

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!