National

BUNDELKHAND EXPRESSWAY : अनुमानित लागत से कम खर्च में बना है बुंदेलखंड एक्सप्रेसवे, पीएम ने किया उद्घाटन

उत्तरप्रदेश। यूपी का बुंदेलखंड क्षेत्र अब विकास की नई रफ़्तार छूने के लिए तैयार है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुंदेलखंड एक्सप्रेसवे का उद्घाटन किया. साथ ही एक प्रदर्शनी का भी निरीक्षण किया. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने एक्सप्रेसवे का उद्घाटन करते हुए कहा कि सीएम योगी के नेतृत्व में यूपी की तस्वीर लगातार बदल रही है. एक्सप्रेस सिर्फ वाहनों को ही गति नहीं देगा,बल्कि पूरे औद्योगिक गति को रफ्तार मिलेगी.

पीएम मोदी ने कहा कि पुरानी सोच को छोड़कर हम नई सोच के साथ आगे बढ़ रहे हैं. 2017 के बाद कनेक्टिविटी के लिए बेहतर काम शुरू हुए हैं. बड़े शहरों के साथ ही छोटे शहरों की कनेक्टिविटी पर भी ध्यान दिया जा रहा है.

पीएम मोदी ने कहा कि यूपी का हर कोना नए सपनों और संकल्पों को लेकर तेज गति से दौड़ने के लिए तैयार है. यही सबका साथ और सबका विकास की अवधारणा है. कोई पीछे नहीं छूटे, इसी दिशा में डबल इंजन की सरकार लगातार काम कर रही है. पीएम बोले कि यूपी के छोटे जिले भी हवाई सेवा से जुड़े, इसके लिए तेजी काम चल रहा है.ऐसे प्रयासों से कारोबार को भी नया आयाम मिलता है.

यूपी में इंफ्रास्ट्रचर पर गंभीरता से काम हो रहा है. इसने  अच्छे अच्छे राज्यों को भी पीछे छोड़ दिया है. पूरा हिंदुस्तान यूपी की ओऱ से अच्छे भाव से देख रहा है. बात सिर्फ हाईवे की नहीं, हर क्षेत्र में यूपी आगे बढ़ रहा है.

रोजगार के अवसरों में इजाफा होगा –

पीएम मोदी ने सीएम योगी से कहा कि यूपी के ऐतिहासिक किले देखने के लिए लोग बाहर से आते हैं. इसके साथ ही उन्होंने सीएम योगी से कहा कि वह सर्दियों में एक प्रतियोगिता का आयोजन करें. इसमें युवाओं को आमंत्रित करें और किले पर चढ़ने की प्रतियोगिता रखें. ये आसान रास्ते से नहीं, बल्कि कठिन रास्ते से हो. युवा बाहर से आएंगे, रात में ठहरेंगे, इससे यहां रोजगार के भी अवसर बढ़ेंगे.

विकास के लिए दो पहलू- इरादा और मर्यादा –

पीएम मोदी बोले कि विकास की जिस धारा पर देश चल रहा है, उसके मूल में दो पहलू हैं. एक है इरादा, दूसरा है मर्यादा. हम देश के वर्तमान के लिए नई सुविधाएं नहीं गढ़ रहे, बल्कि देश का भविष्य गढ़ रहे हैं. हम 21वीं सदी के इंफ्रास्ट्रक्चर में जुटे हैं. विकास के लिए हमारा सेवाभाव ऐसा है कि हम समय की मर्यादा को टूटने नहीं देते.

योगी बोले- एक्सप्रेस-वे विकास की धुरी बनेगा –

इससे पहले सीएम योगी ने कहा कि आज बुंदेलखंड के लिए ऐतिहासिक दिन है. एक्सप्रेस वे यूपी और बुंदेलखंड की अर्थव्यवस्था को नया आयाम प्रदान करेगा. पूरी दुनिया 28 महीने से कोरोना की मार झेल रही थी. लेकिन इसी बीच एक्सप्रेसवे का निर्माण रिकॉर्ड समय में किया है.

रिकॉर्ड समय और अनुमानित लागत से कम खर्च में बने इस एक्सप्रेसवे से न सिर्फ बुंदेलखंड के लोगों को देश की राजधानी दिल्ली पहुंचने में सहूलियत होगी, बल्कि औद्योगिक विकास भी सुनिश्चित हो सकेगा. प्रधानमंत्री मोदी बुंदेलखंड एक्सप्रेस-वे का लोकार्पण करने के साथ ही एक जनसभा को भी संबोधित की.

इससे पहले सीएम योगी ने ट्वीट कर कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के कर-कमलों से आज प्रदेश के चहुंमुखी विकास में अभूतपूर्व भूमिका निभाने जा रहे ‘बुंदेलखंड एक्सप्रेस-वे’ का उद्घाटन होगा. यह एक्सप्रेस-वे ‘नए भारत के नए उत्तर प्रदेश’ में समृद्ध बुंदेलखंड के सामाजिक और आर्थिक विकास की ऐतिहासिक गति का कारक बनेगा.

ये है एक्सप्रेसवे की खासियत –

बुन्देलखण्ड एक्सप्रेस-वे के बन जाने से चित्रकूट, बांदा, महोबा, हमीरपुर और जालौन के लोगों के लिए दिल्ली का सफर आसान हो जाएगा. इस एक्सप्रेस-वे पर 250 से ज्यादा छोटे पुल, 15 से ज्यादा फ्लाईओवर, 6 टोल प्लाजा और 12 से ज्यादा बड़े पुल और 4 रेल पुल बनाए गए हैं. 24 घंटे पुलिस पेट्रोलिंग और एंबुलेंस की सुविधा भी उपलब्ध कराई जाएगी. बुंदेलखंड एक्सप्रेस-वे की लंबाई 296 किलोमीटर है. चार लेन चौड़े बुंदेलखंड एक्सप्रेस-वे के दोनों तरफ अतिरिक्त जमीन भी है जिससे भविष्य में अगर गाड़ियों की आवाजाही बढ़े तो इसको चौड़ा कर 6 लेन तक बढ़ाया जा सके.

अभी तक चित्रकूट से दिल्ली पहुंचने में लगभग 700 किलोमीटर की दूरी तय करनी पड़ती थी. इसमें करीब 12 से 14 घंटे का समय लगता था. बुंदेलखंड एक्सप्रेस-वे बन जाने के बाद ये दूरी सिर्फ 630 किलोमीटर ही रह जाएगी और समय भी बचेगा. दावा किया जा रहा है कि सफर की दूरी घटने से एक्सप्रेस-वे के रास्ते चित्रकूट से दिल्ली तक का सफर केवल 6 घंटे में पूरा हो जाएगा. 296 किलोमीटर लंबे इस एक्सप्रेस-वे पर लोगों की सहूलियत के लिए 4 जन सुविधा केंद्र बनाए गए हैं. इसके अलावा 4 पेट्रोल पंप भी बनाए जाएंगे.

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!