National

एचडीएफसी बैंक का मार्च तिमाही में हुआ 23 प्रतिशत का मुनाफा

देश के सबसे बड़े प्राइवेट बैंक एचडीएफसी बैंक का स्टैंडएलोन प्रॉफिट पिछले वित्त वर्ष 2021-22 की अंतिम तिमाही जनवरी-मार्च में 22.8 प्रतिशत बढ़ा। इस उछाल के साथ बैंक का प्रॉफिट मार्च 2022 तिमाही में 10,055,2 करोड़ रुपए पर पहुंच गया। उसके पिछले वित्त वर्ष 2020.21 में बैंक को समान तिमाही में 8,186,50 करोड़ रुपए का मुनाफा हुआ था। बैंक ने रेगुलेटरी फाइलिंग में यह जानकारी दी है। फाइलिंग के मुताबिक मार्च 2022 तिमाही में 2,989,5 करोड़ रुपए का टैक्स चुकाने के बाद बैंक को करीब 10 हजार करोड़ रुपए का नेट प्रॉफिट हुआ। जनवरी.मार्च 2022 में बैंक को कुल 41,085,78 करोड़ रुपए की आय हुई जबकि पिछले साल की समान तिमाही में बैंक को 38,017,50 करोड़ रुपए की आय हुई थी।

Related Articles

नेट रेवेन्यू भी 7.3 प्रतिशत बढ़कर 26,509,80 करोड़ रुपए हो गया। जबकि पिछले साल की समान तिमाही जनवरी-मार्च 2021 में ये 24,714,10 करोड़ रुपए था। एसेट क्वालिटी की बात करें तो मार्च 2022 तिमाही में बैंक का ग्रॉस नॉन-परफॉर्मिंग एसेट्स ग्रॉस एडवांसेज का 1.17 प्रतिशत रहा। जबकि उसकी पिछली तिमाही यह 1.26 प्रशित पर था। नेट एनपीए, नेट एडवांसेज 0.32 प्रशित रहा। इस महीने की शुरुआत में एचडीएफसी ग्रुप ने हाउसिंग डेवलपमेंट फाइनेंस कॉरपोरेशन और एचडीएफसी बैंक के विलय का ऐलान किया है। इस डील के तहत एचडीएफसी बैंक में एचडीएफसी की 41 प्रतिशत हिस्सेदारी होगी। एचडीएफसी और एचडीएफसी बैंक का यह विलय वित्त वर्ष 2024 की दूसरी या तीसरी तिमाही तक पूरा हो जाएगा।

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!