Chhattisgarh

सेंट्रल जेल में ऑन डिमांड नशे का जुगाड़, मौज में अपराधी…

बिलासपुर : जब हम किसी जेल की बात करते हैं तो स्वाभाविक तौर पर जेल की अवधारणा एक सुधारगृह के रूप में जाना जाता है, लेकिन जेल अगर रसूखदार कैदियों के लिए एक नशे का अड्डा बन जाए तो यह जेल कैदियों को सुधारने के लिए नहीं बल्कि बिगाड़ने का काम करता है. न्यायधानी बिलासपुर के सेंट्रल जेल में भी नशे का खेल जारी है. सेंट्रल जेल परिसर में जाने पर कुछ ऐसे दृश्य देखने को मिलते हैं, जो निश्चित तौर पर सवाल खड़े करते हैं.

बता दें कि, बिलासपुर सेंट्रल जेल परिसर में नशे और गुटखा के बिखरे पाउच दिखे, जो यह बताता है कि कहीं ना कहीं इस जेल में नशे का संदिग्ध कारोबार चलता है. हालांकि, जेल प्रशासन ने इसे सिरे से नकार दिया और कभी कभार शिकायत मिलने पर कार्रवाई करने की बात भी की.

वहीं स्थानीय लोगों का कहना कि, जेल में संदिग्ध तौर पर नशे का खेप पहुंचाया जाता है, जिसका रेट भी फिक्स्ड है. इससे पहले भी कई बार बिलासपुर सेंट्रल जेल से बाहर आए बीमार कैदियों ने जेल के भीतर नशे के कारोबार चलने और रसूखदार कैदियों के द्वारा मारपीट करने का संगीन आरोप लगा चुके हैं. लेकिन ऐसे मामले कम ही उजागर हो पाते हैं और जेल में नशे के खेल का काला कारोबार बदस्तूर जारी रहता है.

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!