National

Indian Air Force Day: भारतीय वायु सेना ने पूरे किए 90 साल, आज मिली नई वर्दी

चंडीगढ़। भारतीय वायु सेना ने आज गौरवशाली 90 साल पूरे होने पर चंडीगढ़ के सुखना झील में भारतीय वायुसेना का भव्य समारोह मनाया जा रहा है। यह पहली बार है जब वायुसेना की वार्षिक परेड और फ्लाई पास्ट दिल्ली-एनसीआर के बाहर आयोजित किया गया है। भारतीय वायु सेना ने आज अपनी 90वीं वर्षगांठ पर बल की नई लड़ाकू वर्दी का अनावरण किया।

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने आज सुबह ही सेना को अपनी शुभकामनाएं देते हुए ट्वीट में लिखा “भारतीय वायु सेना दिवस पर सभी साहसी IAF वायु योद्धाओं और उनके परिवारों को बधाई और शुभकामनाएं। IAF अपनी वीरता, उत्कृष्टता, प्रदर्शन और व्यावसायिकता के लिए जाना जाता है। भारत को अपने पुरुषों और महिलाओं के इस नीले रंग पर गर्व कर रहा है। उन्हें नीले आसमान की शुभकामनाएं और हैप्पी लैंडिंग।”

आज IAF सुखना झील पर एक घंटे का एयर शो आयोजित करेगा, जिसमें लगभग 80 सैन्य विमान और हेलीकॉप्टर शामिल होंगे, जिसमें हाल ही में शामिल स्वदेश निर्मित लाइट कॉम्बैट हेलीकॉप्टर (LCH) “प्रचंड” फ्लाई-पास्ट के दौरान अपने हवाई कौशल का प्रदर्शन करेंगे।

वायु सेना दिवस 1932 में भारतीय वायु सेना (IAF) के आधिकारिक रूप से शामिल होने का प्रतीक है। हर साल, यह दिन भारतीय वायु सेना प्रमुख और वरिष्ठ अधिकारियों की उपस्थिति में मनाया जाता है। वायु सेना को आधिकारिक तौर पर 1932 में यूनाइटेड किंगडम के रॉयल एयर फोर्स के सहायक बल के रूप में शुरू किया गया था और पहला ऑपरेशनल स्क्वाड्रन 1933 में बनाया गया था. IAF द्वारा किए गए प्रमुख ऑपरेशनों में ऑपरेशन विजय, ऑपरेशन मेघदूत, ऑपरेशन कैक्टस और ऑपरेशन पूमलाई शामिल हैं।

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!