National
Trending

Kaali documentary: मां काली के हाथों में सिगरेट और पीछे IGBT का झंडा, क्या दिखाना चाहती है लीना मणिमेकलई

देश में एक ओर जहां मोहम्मद पैगंबर के नाम पर लोगों का गला काटा जा रहा है तो वहीं, दूसरी ओर हिंदू धर्म की आस्थाओं के साथ खिलवाड़ करने का सिलसिला भी अनवरत जारी है। इसका एक कारण यह भी हो सकता है कि शायद हिंदुओं को अपने आस्थाओं के साथ खिलवाड़ करने वालों का गला काटना नहीं आता या फिर उन्हें खून खराबा करना नहीं आता। मसला चाहे जो भी हो इसका परिणाम केवल यही है कि लगातार हिंदू और उनकी आस्थाओं को आहत पहुंचाया जा रहा है।

और इसका जीता जागता एक उदाहरण पेश किया है भारतीय फिल्म निर्माता लीना मणिमेकलई ने, जिनकी डॉक्यूमेंट्री KAALI का हाल में ही पोस्टर रिलीज हुआ है। जिसमें मां काली सिगरेट का कश लगाते नजर आ रही है। इस पोस्टर को देखकर हिन्दू धर्म से जुड़े लोगों की भावनाएं आहत हो गई हैं। जिसके कारण सोशल मीडिया पर विवाद खड़ा हो गया है। इसमें माँ काली का अपमान किया गया है।

दरअसल हाल ही में फिल्ममेकर लीना ने अपनी डॉक्यूमेंट्री फिल्म को प्रमोट करने के लिए सोशल मिडिया में काली नामकी डॉक्यूमेंट्री फिल्म का पोस्टर शेयर किया है, जिसमे देवी काली का रूप लिए एक एक्ट्रेस सिगरेट पी रही है और उसके हाथ में LGBT का झंडा है।


इस पोस्टर के साथ उन्होंने जानकारी दी, कि वह काफी उत्साहित हैं क्योंकि उनकी डॉक्यूमेंट्री का पोस्टर ‘कनाडा फिल्म फेस्टिवल’ में लॉन्च हुआ है।

वहीं, देवी को आपत्तिजनक स्थिति में दिखाए जाने पर यूजर्स लीना को आड़े हाथ ले रहे हैं। कई यूजर्स ने तो पुलिस और केंद्रीय गृह मंत्रालय को टैग करते हुए इसे बनाने वालों पर कार्रवाई की माँग की है, वहीं कई लोग फिल्ममेकर की गिरफ्तारी की मांग कर रहे।

वहीं फिल्ममेकर लीना द्वारा इस विवादित पोस्टर रिलीज करने के पीछे का साफ मकसद केवल एक ही नजर आ रहा है और वह है हिंदू की भावनाओं को आहत करना और अपनी सोच से बनी खटिया डॉक्यूमेंट्री को प्रमोट करना जो दूसरों की आस्थाओं को ताक पर रखकर बनाई गई है।

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!