Raipur
Trending

सड़क पर झूलते मौत के तार,जिम्मेदार मौन! रात के अंधेरे में कभी भी हो सकता है बड़ा हादसा

रायपुर(यज्ञ सिंह ठाकुर)| गोंदवारा स्थित रेलवे क्रांसिंग के पास अनुग्रह रेसीडेंस के पीछे बनी अवैध कालोनी में किसी भी समय बड़ा हादसा हो सकता है। लेकिन जिम्मेदार जोन अधिकारी और कमिश्नर गहरी नींद में सो रहे हैं। लगता है कालोनी में कोई अप्रिय घटना होने के बाद शासन और प्रशासन की नींद खुलेगी।विदित हो कि टाउंन एंड कंट्री का पालन नहीं होने की खबर प्रकाशित कर जोन कमिश्नर कृष्णा खटिक, जोन क्रमांक 1के संज्ञान में ला चुके हैं, लेकिन अभी तक कोई कदम नहीं उठाया गया।


सड़क पर बिछा मौत का जाल


कच्ची सड़क पर बने बास के पोल पर बिजली कनेक्शन लिया गया है। सैकड़ों बास के पोल कालोनी में मकड़ी का जाल जैसे बुने हुए है। बांस के पोल सड़क के बीचों बीच गिर गए हैं,बिजली के तार जमीन पर पड़े है और तार के उपर से सैकड़ों वाहन और लोगों का पैदल आवागमन हो रहा है। जहां कभी भी बड़ा हादसा हो सकता है। सड़क कच्ची है और तार से करंट का प्रवाह होने का अंदेशा बना हुआ है। वहीं वहां से गुजर रहे मवेशी कभी भी करंट के जद में आ सकते हैं।


बांस के पोल बने मकड़ जाल


कालोनी में पांच सौ मीटर से हजार मीटर तक अस्थायी कनेक्शन लिया गया है। जहां कच्ची सड़क के दोनों ओर बांस के पोल में वायरिंग खींचकर घर तक कनेक्शन लिया गया है। बांस के पोल को देखने पर ऐसा लगता है जैसे मकड़ी का जाल बुना हुआ है। जहां कभी भी बड़ा हादसा हो सकता है। इस बारे में जब विद्युत विभाग के उप अभियंता से बात की तो उन्होंने कहा कि विद्युत विभाग ने वैकल्पिक व्यवस्था के तौर पर टीसी कनेक्शन दिया है। यहां कोई हादसा हो जाता है तो हमारी कोई जिम्मेदारी नहीं।


सड़क के बीचों बीच बिछा तार, तार के उपर चलते वाहन और राहगीर


टीसी कनेक्शन यानी अस्थायी कनेक्शन वैकल्पिक व्यवस्था है यह सेवा बिजली विभाग द्वारा एक-दो माह के लिए ही प्रदाय किया जाता है। लेकिन यहां तो दो-दो साल से सेवा ली जा रही है। जो नियम के विपरीत है। स्थानीय निवासी राजेश देवांगन के अनुसार यहां भूलभूत व्यवस्था से जूझ रहे हैं कालोनी के लोग, यहां लोग तो दो-दो,तीन-तीन मंजिला मकान तो बना लिया है। लेकिन भूलभूत सुविधाओं से आज भी वंचित है कालोनी में टाउन एंड कंट्री के नियमों का पालन नहीं किया जा रहा है। यह उपभोक्ता की जिम्मेदारी है कहकर अपना पल्ला झाड़ दिया।

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!