Pendra Gorela

जिले में मुख्यमंत्री द्वारा प्रस्तावित दौरे को ध्यान में रखते हुए शासकीय कामकाज में कसावट लाने कलेक्टर ने दिए निर्देश…

@सुमित जालान

गौरेला पेंड्रा मरवाही :  मुख्यमंत्री श्री भूपेष बघेल द्वारा अगले माह से जिले के प्रशासकीय दौरे को ध्यान में रखते हुए कलेक्टर ऋचा प्रकाश चौधरी ने सभी जिला अधिकारियों को शासकीय काम-काज में कसावट लाने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने आज कलेक्ट्रेट के अरपा सभा कक्ष मे साप्ताहिक समय-सीमा की बैठक में कहा कि मुख्यमंत्री जिले का भ्रमण कर ग्रामीणों से उनकी समस्या, मांग, सुझाव साथ ही जनकल्याणकारी योजनाओं के क्रियान्वयन की जानकारी लेेंगे।

भ्रमण के दौरान शिकायतें प्राप्त नही हों..

कलेक्टर ने सभी जिला अधिकारियों को अपने कर्तव्यों का निर्वहन गंभीरता से करने के साथ ही अधीनस्थ मैदानी अमले को भी गंभीरता से कार्य करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि पटवारियों, शिक्षकों, आंगनबाड़ी कार्यकताओं, पंचायत सचिवों एवं स्वास्थ्य अमले की नियमित उपस्थिति नहीं पाए जाने पर कड़ी कार्रवाई की जाएगी। बैठक में कलेक्टर ने स्कूलों में मध्यान्ह भोजन, स्वास्थ्य केंद्रों में दवाओं की उपलब्धता, मनरेगा कामों का संचालन और समय पर मजदूरी भुगतान, गोबर खरीदी एवं भुगतान, आंनबाड़ी केंद्रों में पोषाहार वितरण एवं गर्म भोजन की व्यवस्था, गौठानों का सुचारू संचालन एवं गौठानों में आर्थिक गतिविधियों का संचालन, सामाजिक सुरक्षा संबंधी पेंशनों का वितरण, हैंड पंपों की स्थिति एवं नल जल योजना का संचालन, रबी फसलों के लिए खाद एवं बीजों की उपलब्धता, जन सुविधा केंद्रों की सेवायें सहित स्वामी आत्मानंद इंग्लिश मीडियम स्कूल तथा हिंदी माध्यम स्कूलों के संचालन के बारे में आवश्यक निर्देश दिए, ताकि मुख्यमंत्री द्वारा ग्रामीण क्षेत्रों में भ्रमण के दौरान शिकायतें प्राप्त नही हों।

कलेक्टर ने समय सीमा की बैठक में सभी पंचायतों में राजीव मितान युवा क्लब का गठन करने, छत्तीसगढ़ रोजगार मिशन के तहत हितग्राहियों का डेटा तैयार करने, गौठानों में गोबर खरीदी, वर्मीं कम्पोस्ट के उठाव एवं आर्थिक गतिविधियों का संचालन, विभिन्न विभागों को भूमि आबंटन की प्रक्रिया में तेजी लाने के निर्देश दिए। उन्होने महिला स्व सहायता समूहो द्वारा निर्मित एवं उत्पादित अचार, पापड़, मसाला, सब्जी-भाजी की आपूर्ति स्कूलों, आंनबाड़ी केंद्रो, छात्रावासों, आश्रमों में सुनिश्चित करने को कहा ताकि बच्चों को ताजा और पौष्टिक आहार आसानी से उपलब्ध हो सके। उन्होंने संबंधित अधिकारियों को लघु वनोपज संघो, महिला स्व सहायता समूहों और महिला एवं बाल विकास विभाग की महिला समूहो द्वारा की जा रही विभिन्न उत्पादों की ब्राडिंग एवं पैकेजिंग कर बिक्री व्यवस्था में सहयोग करने को कहा ताकि उन्हे उनके उत्पादों का उचित दाम मिल सके।

बैठक में पुलिस अधीक्षक त्रिलोक बंसल, अपर कलेक्टर बीसी एक्का, परियोजना प्रशासक डीआएडीए आर.के. खूंटे, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक अर्चना झा, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. देवेन्द्र पैकरा सहित सभी विभागों के जिला अधिकारी उपस्थित थे।

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!